गृहमंत्री ने कांग्रेस और दिग्विजय पर साधा निशाना, कहा- सर्वाधिक दलबदल कांग्रेस ने ही करवाए 

मध्य प्रदेश के सियासी गलियारों में इन दिनों दल बदल कानून को लेकर घमासान मचा हुआ है। मप्र के पूर्व सीएम और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर दल बदल कानून में संशोधन की मांग की है...

गृहमंत्री ने कांग्रेस और दिग्विजय पर साधा निशाना, कहा- सर्वाधिक दलबदल कांग्रेस ने ही करवाए 
Home minister targeted Congress and Digvijay

भोपाल

दिग्विजय के पत्र पर प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उन्हें आड़े हाथों लेते हुए जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि दलबदल के कानून की अच्छी जानकरी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष दे देंगे क्योंकि उन्होंने कई नेताओं का दलबदल करवाया है। 

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए देश में दलबदल कानून को लेकर दिग्विजय सिंह की चिट्ठी पर जमकर बरसे। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दलबदल पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बेहतर बता पाएंगे। देश में सर्वाधिक लोगों को दलबदल कांग्रेस सरकार ने करवाया। इसकी सूची वो दे या हम दे दें। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि सर्वाधिक सरकार कांग्रेस ने दलबदल से गिराई है। कांग्रेस क्यों पीएम मोदी को, अमित शाह को और संघ प्रमुख को या राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखते है। पहले आप अपने पार्टी के भीतर लिखो, वहा संतुष्ट न हो तो कही और लिखो। आखिर में हम ही आप का मार्गदर्शन करें क्या।

यह भी पढ़ें : एक अगस्त से बैंकिंग और आटो सेक्टर में होने वाले बदलावों को जानिये

राफेल की गर्जना से गूंजेगा आसमान

वहीं आज राफेल विमानों के देश आने पर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि हिंदुस्तान का आसमान राफेल की गर्जना से गूँजेगा और देश का सर सम्मान से बढ़ेगा। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि राफेल हिंदुस्तान आने के बाद तीन जगह मातम होगा। पहला चीन, दूसरा पाकिस्तान और तीसरे वो लोग जो राफेल के खिलाफ ट्वीट करके रो रहे हैं उनके यहां राफेल आने का मातम होगा। जो लोग सेना का मनोबल गिरा रहे हैं, पुलिस का मनोबल गिराते है। इन लोगों को दूसरे देश की नागरिकता लेना चाहिए। कांग्रेस लगातार राफेल को लेकर एक झूठ बोलने की कोशिश में लगी है जबकि राफेल को लेकर तमाम न्यायिक रिपोर्ट आ चुकी है।

कांग्रेस में मुखिया को लेकर हो रही खींचतान पर ली चुटकी

कांग्रेस में मुखिया को लेकर हो रही खींचतान पर नरोत्तम मिश्रा ने चुटकी लेते हुए कहा कि ‘ये किसको फिकर थी कि कबिले का क्या होगा, सब इस पर लड़ रहे हैं कि सरदार कौन होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नेतृत्व के सवाल पर अंतर्कलह और ट्विवटर-पोस्टरवार में उलझी कांग्रेस अपने गिरेबां में झांकने के बजाय भाजपा पर आरोप लगा रही है। कमलनाथ जी यह क्यों नहीं समझते कि कांग्रेस में जिस बयान पर बवाल मचा है वो भाजपा के किसी नेता ने नहीं बल्कि उनके बेटे नकुलनाथ ने दिया है।

यह भी पढ़ें : रिया चक्रवर्ती पर केस दर्ज होने के बाद कंगना रनौत ने कही ये बात

फिलहाल लॉकडाउन बढ़ाने का विचार नहीं

राजधानी में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दस दिन के बाद लॉक डाउन पर विचार नही किया जा रहा है। अन्य विकल्प पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि लॉकडाउन की अवधि अब और आगे बढ़ाने की जरूरत पड़ेगी। लॉकडाउन की तारीख आगे बढ़ाने के बजाय सरकार दूसरे विकल्पों पर भी विचार करेगी। जब कोई और विकल्प कारगर नहीं लगेगा तभी लॉकडाउन आगे बढ़ाने के बारे में सोचेंगे। वहीं छतरपुर के कोविड सेंटर में कोरोना संक्रमित युवक द्वारा फांसी लगाने पर मंत्री मिश्रा ने कहा कि युवक घबराया हुआ था, कोरोना संक्रमण को लेकर डरा हुआ था। सरकार कोविड मरीजों की मनोचिकित्सकों से कॉउंसलिंग करवाने पर विचार किया जा रहा है। 

हिन्दुस्थान समाचार