दो किसानों पर जानलेवा हमला, एक की मौत

देहात कोतवाली अंतर्गत ग्राम गुरेह और शहर कोतवाली अंतर्गत ग्राम सुहाना में भी हत्याएं पुलिस की लापरवाही के कारण हुई हैं क्योंकि दोनों मामलों में झगड़े की जानकारी पहले से पुलिस के पास थी। पुलिस ने दोनों मामलों में सक्रियता से कार्रवाई नहीं की जिससे मामला खून खराबा तक पहुंच गया, तीसरा मामला भी आपसी रंजिश का बताया जा रहा है।

दो किसानों पर जानलेवा हमला, एक की मौत
Farmer Dead

जनपद में एक सप्ताह के अंदर तीन हत्याएं हो जाने से सनसनी फैल गई है। बीती रात अपने खेत में लगे बोरवेल की ओर जा रहे दो किसानों पर लोगों ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया ,जिसमें एक किसान की मौत हो गई है जबकि दूसरे की हालत गंभीर बताई जा रही है।एक सप्ताह के अंदर यह तीसरी वारदात है इसके पहले ग्राम गुरेह  व ग्राम सुहाना में दो हत्याएं हो चुकी हैं।

घटना कमासिन थाना क्षेत्र के ग्राम बनखेड़ी में  बीतीरात को हुई। रात को दो किसान अपने-अपने बोर जा रहे थे कि जैसे ही पंचायत भवन के पास पहुंचे पहले से घात लगाए बैठे कुछ व्यक्तियों ने हमला बोल दिया। जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर स्वजनों ने पहले स्थानीय अस्पताल मैं भर्ती कराया लेकिन हालत नाजुक होने पर बांदा रेफर किया गया। जहां पर एक की मृत्यु हो गई है। ग्राम  वनथरी निवासी रामस्वरूप पुत्र केदार प्रसाद ( 60) व कल्लू पुत्र राजकिशोर गौतम (35) जिनका पास पास ही निजी बोर है, खाना खाने के बाद दोनों किसान बोर जा रहे थे।

पहले से घात लगाए बैठे कुछ व्यक्तियों ने लाठी-डंडों से हमला बोल दिया जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल होकर जमीन पर गिर पड़े और हमलावर चीखने चिल्लाने पर भाग खड़े हुए। होश आने पर रामस्वरूप ने अपने मोबाइल से स्वजनों को सूचना दी। फलस्वरूप स्वजन मौके पर पहुंचकर दोनों घायलों को पहले स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। जहां हालत नाजुक होने पर डॉक्टर ने बांदा रेफर कर दिया। जिसमें रामस्वरूप की अस्पताल में मौत हो गई है। कमासिन थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने बताया कि मामला आपसी रंजिश का है। दोनों पक्षों में पहले मारपीट की घटनाएं हो चुकी है घटना की तहरीर अभी नहीं मिली है जिससे अभी तक मुकदमा नहीं लिखा गया। शव को शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।