लेटर ले जाने वाला डाकिया अब टीबी के नमूने ले जायेगा

देश को 2025 तक ट्यूबरकुलोेसिस यानि टीबी से मुक्त करने का संकल्प प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया था। इसको पूरा करने के लिए अब केन्द्र सरकार हर मोर्चे पर कार्य कर रही है...

लेटर ले जाने वाला डाकिया अब टीबी के नमूने ले जायेगा
लेटर ले जाने वाला डाकिया अब टीबी के नमूने ले जायेगा

नोएडा

टीबी के नमूने की जल्द से जल्द जांच हो तभी उसका इलाज भी जल्द से जल्द हो सकेगा। इसी को देखते हुए टीबी विभाग और डाक विभाग ने आपसी सहमति से काम करने की योजना बनाई है।

यह भी पढ़ें : अर्थव्‍यवस्‍था में जान फूंकने के लिए मोदी कर सकते हैं अहम ऐलान

यूपी के गौतमबुद्ध नगर यानि नोएडा से इसकी शुरुआत होगी। यहां के जिला टीबी अधिकारी गिरीश जैन ने एजेंसी को बताया कि जिले में पिछले माह से टीबी के नमूने डाक द्वारा लैब में भेजे जा रहे हैं। अब तक 23 नमूने भेजे जा चुके है। नमूने का बेहतर तरीके से हैंडल कर पाए इसलिए डाकिए को प्रशिक्षण भी दिया गया है। कोरोना के कारण अभी मात्र 25 डाकिए को ही प्रशिक्षण दिया गया है। लेकिन आगे और भी लोगों को इस बावत प्रशिक्षण दिया जाएगा। गिरीश जैन ने बताया कि इससे पहले कोरियर से सैंपल भेजे जाते थे जो कि बहुत अधिक समय लेते थे। प्रदेश में आगरा, लखनऊ, बरेली, अलीगढ़, मेरठ और वाराणसी में टीबी की जांच की जाती है। नोएडा से सैंपल सबसे नजदीक आगरा भेजा जाता है। उन्होंने कहा कि अभी जून तक यहां पर 3500 टीबी के मरीज सामने आए है।

यह भी पढ़ें : बिजली दरों में कटौती के प्रस्ताव पर विचार करे योगी सरकार : प्रियंका

इसी प्रकार यूपी सरकार प्रदेश के अन्य जिलों में भी डाक विभाग और टीबी विभाग के बीच आपसी तालमेल बिठाकर इस रोग को यूपी से भगाने में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प में भागीदार बनती दिखाई दे रही है। बुन्देलखण्ड में भी अन्य क्षेत्रों के मुकाबले में ज्यादा फैलाव है इस रोग का, लिहाजा यहां पर यह योजना काफी परवान चढ़ सकती है।

हिन्दुस्थान समाचार

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0