झाँसी : आखिर क्यों पहुंचे सब्जी विक्रेता नगर निगम ?

पटरी दुकानदारों की समस्याओं को लेकर नगर आयुक्त को एक ज्ञापन कांग्रेसी नेता व नगर निगम सभासद सुलेमान अहमद मंसूरी के नेतृत्व में सौंपा गया...

झाँसी : आखिर क्यों पहुंचे सब्जी विक्रेता नगर निगम ?

  • नगर निगम में  बड़ा बाजार के सैकड़ों  फुटपाथ सब्जी विक्रेताओं ने किया प्रदर्शन

वहीं सब्जी विक्रेताओं ने अपनी परेशानी बतलाई,  कहा कि कई सालों से बड़ा बाजार में सैकड़ों लोग सब्जी की दुकान लगाकर अपना जीवन यापन कर अपने बच्चों का भरण पोषण करते हैं।

यह भी पढ़ें - उत्तर प्रदेश में सीरो सर्विलांस आज से शुरू, प्रत्येक जनपद में लिए जाएंगे 1080 लोगों के रक्त के नमूने 

वही नगर निगम द्वारा उन दुकानदारों को बड़ा बाजार से हटाया जा रहा है। वहीं सब्जी विक्रेताओ के सामने रोजी रोटी की परेशानी पैदा हो रही है। जिससे दुकानदारों मैं काफी रोष व्याप्त है।

यह भी पढ़ें - पांच माह बाद पटरी पर दौड़ी इंटरसिटी एक्सप्रेस

पटरी सब्जी विक्रेताओं की मांग है कि उनको बड़ा बाजार की जगह कहीं अन्य स्थान पर जगह दे दी जाए। जिससे वह सब्जी बेचकर अपने परिवार का भरण पोषण कर सकें। वही सभासद सुलेमान मंसूरी का कहना है कि नगर निगम द्वारा गरीब सब्जी विक्रेताओं का शोषण हो रहा है जिससे  वह भुखमरी की कगार पर  हैं । अगर नगर निगम द्वारा इन पटरी सब्जी विक्रेताओं को व्यापार करने के लिए जगह नहीं दी गई तो नगर निगम में यह पट्री दुकानदार अपने परिवार के साथ धरने पर बैठकर प्रदर्शन करेंगे, और शासन से रोजी रोटी मांगेंगे।

यह भी पढ़ें - लखनऊ में मेट्रो ट्रेनों का रिहर्सल शुरू, 7 सितम्बर से खुलेंगे खानपान स्टॉल

इस मौके पर सुनील, लोकेंद्र राजा कुशवाहा, शकील, मुन्नी, रामबाई, भूरे कासिम, छोटी बाई, समीर, फिरोज मदीना आदि सैकड़ों पटरी दुकानदार मौजूद रहे।