उड़ीसा से आया डेढ़ करोड़ कीमत का गांजा बरामद

उड़ीसा से आया डेढ़ करोड़ कीमत का गांजा बरामद

मोहम्मद शमीम@ मऊरानीपुर (झांसी)

उड़ीसा से एक डंपर के जरिए 10 कुंतल गांजा लाया जा रहा था जिसे स्पेशल टास्क फोर्स लखनऊ और  मऊरानीपुर पुलिस ने संयुक्त रूप से बरामद कर गांजे के चार अंतर्राज्यीय  तस्करों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पकड़े गए तस्करों से पूछताछ की जा रही है।जिसमें गांजे के अंतर्राज्यीय तस्कर गिरोह का पर्दाफाश हो सकता है। बरामद हुए गांजे की कीमत लगभग डेढ़ करोड़ रुपए बताई जा रही है।

गांजे की तस्करी करने वाले अंर्तराज्यीय तस्कर उड़ीसा से गांजा की खेप लेकर डंपर द्वारा रायपुर से होते हुए झांसी और झांसी से मऊरानीपुर पहुंचे थे। जहां स्पेशल टास्क फोर्स लखनऊ और मऊरानीपुर पुलिस ने उन्हें उन्हें दबोच लिया और डंपर से गांजा से भरी बोरियां बरामद हुई बरामद हुआ गांजा लगभग 10 कुंतल है गांजे की इस बड़ी खेप के पकड़ जाने से जा अंर्तराज्यीय तस्करों के गिरोह में हलचल मच गई है, वही इस गांजे से हजारों युवाओं की की जिंदगी बच गई जो उसके पीने के नशे के आदी हो जाते हैं पकड़े गए तस्करों से पूछताछ की जा रही है कि यह गांजा वह मऊरानीपुर में कहां बेचने जा रहे थे या इसके आगे भी किसी को गांजा बेचने के लिए ले जाने की योजना थी।

यह भी पढ़े:  कोरोना काल में दिलीप की दानवीरता का दबदबा कायम

साथ ही इस ग्रुप में और कितने लोग शामिल हैं क्या इसमें कोई रसूखदार शख्स भी शामिल है जो भारी मात्रा में नशे का सामान मंगवा कर डिलीवरी करवाते हैं माना जा रहा है कि अगर पुलिस पकड़े गए तस्करों से पूछताछ करेगी तो निश्चित ही इसमें और बड़े चेहरे बेनकाब होंगे।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राहुल मिठास ने बताया कि लखनऊ से आयी एस टी एफ और मऊरानीपुर पुलिस ने सयुंक्त कार्यवाही करते हुए ये बड़ी सफलता हासिल की है। बताया कि गाँजे की इतनी बड़ी खेप उड़ीसा से निकलकर मऊरानीपुर आने की सूचना पर लखनऊ से आकर एस टी एफ ने मऊरानीपुर पुलिस के साथ मिलकर ये कार्यवाही की है।

यह भी पढ़े: यूपी सरकार ने पेश किये अब तक के आंकड़े

कार्यवाही में नशे के चार सौदागरों को गिरफ्तार कर लिया गया अब पुलिस इन सौदागरों से यह जानने का प्रयास कर रही है कि किसके इशारे पर इतनी भारी मात्रा में गांजा मऊरानीपुर पहुंचा और कौन है वह लोग जो कोरोना जैसी महामारी के बीच भी युवाओं तक गांजा पहुंचाकर धीरे धीरे मौत बांटने का काम कर रहे है।