दिल्ली में बनेगा देश का पहला प्लाज़्मा बैंक, केजरीवाल ने की लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील 

सरकार ने प्लाज्मा बैंक शुरू करने का फैसला किया है। दिल्ली में प्लाज़्मा बैंक का निर्माण किया जाएगा। देश का ये पहला प्लाज़्मा बैंक होगा। दिल्ली के आईएलबीएस हॉस्पिटल में प्लाज्मा बैंक बनाया जाएगा। केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से अपील की कि वे कोरोना मरीजों के लिए प्लाज्मा दान करने को आगे आएं।

दिल्ली में बनेगा देश का पहला प्लाज़्मा बैंक, केजरीवाल ने की लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील 

नई दिल्ली,

(हि.स.)। कोरोना वायरस के संक्रमण से मरीजों को बचाव के लिए दिल्ली में जल्द ही प्लाज्मा बैंक शुरू किया जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को पत्रकार वार्ता में इसका ऐलान किया।

केजरीवाल ने कहा कि प्लाज्मा बैंक बनाने की सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। इसका लाभ सभी को मिलेगा। सरकारी हों या प्राइवेट, सभी अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों को इसका लाभ मिलेगा। अगर किसी को प्लाज्मा चाहिए तो डॉक्टर के कहने के बाद ही मरीज को प्लाज्मा मिल सकेगा। निजी तौर पर किसी को प्लाज्मा नहीं मिलेगा।
आईएलबीएस हॉस्पिटल में अगले दो दिनों में प्लाज्मा बैंक शुरू कर दिया जाएगा। केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण के इलाज के बाद ठीक हो चुके मरीजों और आम लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सभी लोगों का आगे आना जरूरी है।

केजरीवाल ने कई अस्पतालों में मरीजों को प्लाज्मा दिए जाने का उदाहरण देते हुए कहा कि इस काम में सबको भागीदारी निभानी होगी। केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से प्लाज्मा दान करने की अपील करते हुए कहा कि यह काम ज्यादा कठिन नहीं है। आईएलबीएस हॉस्पिटल कोरोना अस्पताल नहीं है, फिर भी वहां व्यवस्था की गई है। अगर किसी को प्लाज्मा दान करना हो तो वह सरकार को बताए। उस व्यक्ति को आईएलबीएस हॉस्पिटल पहुंचाने का सारा जिम्मा सरकार उठाएगी। इसके लिए एक-दो दिन में फोन नंबर जारी कर दिए जाएंगे। इस नंबर पर फोन करने के बाद टैक्सी आपके पास पहुंचेगी और आपको आईएलबीएस हॉस्पिटल ले जाएगी, जहां आप प्लाज्मा दान कर सकेंगे। केजरीवाल ने अपील की कि ज्यादा से ज्यादा लोग प्लाज्मा दान करें, ताकि कोरोना से पीड़ित मरीजों का इलाज किया जा सके।

केजरीवाल ने कहा कि डाक्टर असीम गुप्ता कोरोना मरीजों की सेवा करते-करते कोरोना से संक्रमित हुए और अब वो हमारे बीच नहीं रहे। हम उनकी इस सेवा को नमन करते हैं। दिल्ली सरकार उनके सम्मान में उनके परिवार को एक करोड़ की सम्मान राशि देगी।