मलहरा उपचुनाव : भाजपा उम्मीदवार अस्पताल में भर्ती, उमा ने संभाली कमान

प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर चल रहे उपचुनावों में सर्वाधिक रोचक चुनाव छतरपुर जिले की बड़ामलहरा सीट पर हो चुका है...

मलहरा उपचुनाव : भाजपा उम्मीदवार अस्पताल में भर्ती, उमा ने संभाली कमान

चुनाव के ठीक चार दिन पहले कोरोना की चपेट में आए भाजपा प्रत्याशी प्रद्युम्र सिंह लोधी अब भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। कम से कम 14 दिन तक वे अस्पताल में ही रहेंगे, इसलिए मैदान पर उनकी कमी को भरने के लिए भाजपा की फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने डेरा डाल लिया है।

यह भी पढ़ें - फ्रांस की घटना को लेकर यूपी में अलर्ट जारी

उमा भारती ने शनिवार को क्षेत्र में पहुंचकर सबसे पहले अबार माता के दर्शन किए फिर रामटौरिया, घुवारा, बड़ामलहरा और सड़वा में नुक्कड़ सभाएं कीं। उन्होंने भाजपा नेताओं के साथ भी बैठक की और कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि अब कार्यकर्ता ही खुद को प्रत्याशी मानकर चुनाव लड़े। उन्होंने कहा कि भाजपा इतनी बड़ी पार्टी है कि इसमें प्रत्याशी के बीमार पडऩे से फर्क नहीं पड़ता। पूरा संगठन ही प्रत्याशी के रूप में काम करेगा।

यह भी पढ़ें - बांदा में अवैध बालू खनन में पुलिस व प्रशासन की रेकी करने वाले कौन-कौन हुए गिरफ्तार, जानें

भाजपा पर बरसीं साधना भारती

वहीं दूसरी तरफ शनिवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता साधना भारती ने बड़ामलहरा विधानसभा क्षेत्र में रामसिया भारती के समर्थन में जनसभाएं लीं। उन्होंने घुवारा क्षेत्र के गांधी स्मारक बस स्टेण्ड भगवां में दोपहर 12 बजे, बम्हौरी बस स्टेण्ड पर दोपहर 3 बजे सभाएं कीं। सभाओं के दौरान वे भाजपा पर निशाना साधती रहीं। साधना भारती ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी के बीच मप्र को चुनाव में धकेलने वाली भाजपा को जनता सबक सिखाएगी। उन्होंने कहा कि जनता लोकतंत्र को कलंकित करने वाले बिकाऊ और गद्दार नेताओं को सबक सिखाकर लोकतंत्र की लाज बचाने के लिए आगे आएगी।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में होगा विकसित

चरण सिंह ने वीडियो जारी कर दी चेतावनी

कांग्रेस नेता और रेत माफिया चरण सिंह यादव पर छतरपुर पुलिस द्वारा 10 हजार रुपये का इनाम घोषित करने के बाद चरण सिंह ने एक वीडियो जारी कर पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा को चेतावनी देते हुए कहा कि उनके विरूद्ध फर्जी मुकदमा दर्ज कर 24 घंटे के भीतर इनाम घोषित करने की इस पक्षपातपूर्ण कार्यवाही के खिलाफ वह सुप्रीम कोर्ट तक लड़ेगा। चरण सिंह ने कहा कि मेरी लड़ाई कमजोर नहीं पड़ेगी। इसके लिए चाहे मुझे किसी भी अदालत तक जाना पड़े। उल्लेखनीय है कि 28 अक्टूबर को ही कांग्रेस में शामिल हुए चरण सिंह पर 30 अक्टूबर को एक मुकदमा कायम कर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया था।

यह भी पढ़ें - तोपें चित्रकूट में बनेंगी और यह जिला दुश्मन के दांत खट्टे करेगा : सीएम योगी

हिन्दुस्थान समाचार

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0