विधानसभा चुनाव से पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बाद योगी सरकार बुंदेलखंड को बड़ा उपहार देने की तैयारी में

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के पहले योगी सरकार का पूरा फोकस बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे निर्माणकार्य को पूरा करने में है..

विधानसभा चुनाव से पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बाद योगी सरकार बुंदेलखंड को बड़ा उपहार देने की तैयारी में
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के पहले योगी सरकार का पूरा फोकस बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे निर्माणकार्य को पूरा करने में है। यह वह इलाका है जहां 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सभी 19 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात देने के बाद योगी सरकार बुंदेलखंड को बड़ा उपहार देने की तैयारी में है। उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) की समीक्षा बैठक में रिपोर्ट सामने आई कि 75 फीसद भौतिक काम हो चुका है। अब सिर्फ 25 फीसद काम ही बचा है।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में आने वाले सातों जनपदों में 948.4161 हेक्टेयर भूमि में वृक्षारोपण होगा

यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के निर्माण की समीक्षा वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से की। संबंधित अधिकारियों ने रिपोर्ट दी कि एक्सप्रेस-वे का काम तेज गति से चल रहा है।

अब तक लगभग 75 फीसद से अधिक भौतिक कार्य हो चुका है। यमुना और बेतवा नदी पर पुल बन रहे हैं। अब तक क्लीयरिंग एंड ग्रबिंग का काम शत प्रतिशत और मिट्टी का काम 96 फीसद से अधिक कर लिया गया है। कुल 882 में से 749 स्ट्रक्चर (ढांचे) का काम पूरा किया जा चुका है। सभी 14 बड़े पुल और चार रेलवे ओवर ब्रिज बनाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें - बुंदेलों की बदहाली दूर कर खुशहाली के साथ कई बड़े बदलाव लायेगा बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की कुल लंबाई 296.07 किलोमीटर है। अब तक कुल 221 किमी लंबाई में बिटुमिन स्तर का काम पूरा किया जा चुका है, यानी कि इतनी सड़क पूरी तरह बनकर तैयार हो चुकी है। विभाग की तैयारी है कि दिसंबर के अंत तक मुख्य मार्ग को यातायात के लिए खोल दिया जाए। इस पर यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने निर्देश दिए कि आरओबी सहित अन्य काम में तेजी लाएं। यूटिलिटी शिफ्टिंग और मिट्टी का जो काम बचा है, उसे भी जल्द पूरा किया जाए।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway)

सरकार ने तय किया है कि इस साल दिसंबर में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे परियोजना को दिसंबर 2021 में पूरा कर दिया जाए। इससे टोल टैक्स की आमदनी भी शुरू हो जाएगी। यही नहीं डिफेंस कारीडोर का काम इसके जरिए और विकसित होगा। चार लेन का एक्सप्रेस-वे इस तरह बनाया जा रहा है ताकि भविष्य में इसे छह लेन किया जा सके। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद इस एक्सप्रेस-वे परियोजना के निर्माण कार्य की निगरानी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें - अनुपूरक बजट में भी एक्सप्रेस वे पर मेहरबान योगी आदित्यनाथ सरकार

  • दिल्ली लखनऊ से सीधे लिंक हो जाएगा बुंदेलखंड

यह एक्सप्रेसवे प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र को देश की राजधानी दिल्ली से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे एवं यमुना एक्सप्रेसवे के साथ सीधे लिंक कर देगा। ऐसा होते ही देश के पिछड़े इलाकों में गिना जाने वाले बुंदेलखंड क्षेत्र में विकास की तमाम संभावनाएं जन्म लेंगी। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को झांसी जिले की विधानसभा गरौठा में बन रहे डिफेंस कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा। 

  • चित्रकूट से इटावा तक सड़क

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे परियोजना का प्रारम्भ झांसी-इलाहाबाद राष्ट्रीय मार्ग संख्या-35 भरतकूप के पास चित्रकूट जिले से किया गया। परियोजना का अन्तिम स्थल आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर ग्राम कुदरैल इटावा होगा।

अगर ये खबर आपको अच्छी लगी हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा, या फिर कोई सुझाव हो तो निचे कमेंट बॉक्स पर कमेंट भी कीजिये।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से जुडी हर अपडेट के लिए फॉलो करिये हमारी वेबसाइट बुन्देलखण्ड न्यूज़ डॉट कॉम (bundelkhandnews.com) को।

bundelkhand expressway latest update, upeida

यह भी पढ़ें - झांसी से खजुराहो तक का सफर हुआ सुगम, 6 घंटे से अब 2 घंटे में पहुंच जायेंगे खजुराहो

What's Your Reaction?

like
2
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
1