प्रतिदिन मुंबईया टैक्सियों में बाँदा से गुजर रहें हैं सैकड़ों लोग

प्रतिदिन मुंबईया टैक्सियों में बाँदा से गुजर रहें हैं सैकड़ों लोग
बाँदा से गुजरती मुंबई की टैक्सियां

बांदा, 

चित्रकूट धाम मंडल के सभी जनपदों में प्रतिदिन मुंबईया टैक्सियों से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर आ रहे हैं, जो बिना थर्मल स्क्रीनिंग के अपने-अपने गांव में प्रवेश कर कोरोना महामारी को दावत दे रहे हैं। इस समय प्रतिदिन नेशनल हाईवे पर काली पीली टैक्सी से लोग आ रहे हैं, इन्हें सीमा पर रोका भी नहीं जा रहा है। जिससे बेरोकटोक यह मजदुर शहर के नेशनल हाईवे से घुसकर अपने गांवों में पहुंच रहें हैं। पिछले एक सप्ताह से यह सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है।

काली-पीली टैक्सी के अलावा ट्रक व अन्य वाहनों से भी बड़ी संख्या में लोग गांव में पहुंच रहे हैं। जिससे गांव में लोग भयभीत हैं। इस बारे में प्रशासन से भी शिकायत कर रहे हैं लेकिन प्रशासन चुप्पी साधे है।

यह भी पढ़ें : चित्रकूट में 7 और संक्रमित मरीज मिले, सीएमओ ने की पुष्टि

बताते चलें कि कोविड-19 वायरस की महामारी फैलते ही पूरे देश में लाॅक डाउन करके लोगों को जहां थे वहीं रोक दिया गया था। इधर  तीसरे लाॅक डाउन  में सरकार ने थोड़ी ढील दी तो जिले के विभिन्न महानगरों से आने वालों का तांता लग गया। पिछले  तीन-चार दिन से महाराष्ट्र की काली पीली टैक्सी, थ्री व्हीलर और लग्जरी गाड़ियों से सैकड़ों लोग आ रहे हैं।

इन मजदूरों की न तो थर्मल स्क्रीनिंग हो रही है और न ही सीमा पर इन्हें रोका जा रही है। लोग धड़ल्ले से अपने गांव और घरों में प्रवेश कर रहे हैं। बिना जांच-पड़ताल के आने वाले इन कामगारों की वजह से गांव के लोग परेशान हैं। उन्हें ऐसा लग रहा है कि कहीं इनके आने से गांव  वैश्विक महामारी कोरोना की चपेट में न आ जाएं।

सबादा गांव के रामलखन व चुन्नू नें बताया कि बाहर से आ रहे इन कामगारों को समझाने की भी कोशिश की लेकिन यह किसी की सुन नहीं रहे। सीधे अपने घरों में प्रवेश कर रहे हैं, इनमें मुंबई, सूरत, बड़ोदरा, इंदौर ,दिल्ली समेत विभिन्न शहरों के मजदूर शामिल है। ऐसे ही मजदूरों के कारण तिंदवारी के माचा गांव, नरैनी के रामनगर, पैलानी के पिपरईगांव और संवादा गांव में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीज मिले है। जिससे आस-पास के गांव में भी कोरोना की बीमारी फैलने की संभावना व्यक्त की जा रही है। वहीं प्रवासी मजदूरों के इस तरह आने से बीमारी के और बढ़ने की संभावना है।