मौत को गले लगाने से पहले पुलिस ने प्रेमी युगल को पहनवाई जयमाल 

युगल प्रेमी एक दूसरे से प्रेम करते थे दोनों अपनी जिंदगी का हर पल साथ गुजारना चाहते थे और वह किसी भी परिस्थिति में जुदा नहीं होना चाहते थे, इसीलिए..

मौत को गले लगाने से पहले पुलिस ने प्रेमी युगल को पहनवाई जयमाल 

युगल प्रेमी एक दूसरे से प्रेम करते थे दोनों अपनी जिंदगी का हर पल साथ गुजारना चाहते थे और वह किसी भी परिस्थिति में जुदा नहीं होना चाहते थे, इसीलिए दोनों घर से भाग कर शादी करना चाहते थे लेकिन दोनों के परिजन उनके प्यार में बाधक बन गए तभी पुलिस ने न सिर्फ सुरक्षा मुहैया कराई बल्कि एक मंदिर में शादी रचा कर मानवता की मिसाल पेश की।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड में जल्द मेमू ट्रेनें दौड़ाने की तैयारी, लीजिये पूरी जानकारी 

यह मामला बांदा के कमासिन थाना क्षेत्र के पछौंहा गांव के रहने वाले कल्लू और अतर्रा के पिंडखर की रहने वाली युवती पूजा का है, जिनक बीच बीते दो साल से प्रेम संबंध थे। दोनों के परिजन उनकी शादी को तैयार नहीं थे। पूजा के परिजनों ने उसकी शादी बिना उसकी मर्जी तय कर दी थी। गोद भराई की रस्म भी कर दी। तीन दिन पहले घर से प्रेमी युगल भाग गए परिजनों ने उन्हे अतर्रा में एक मकान से पकड़ लिया। प्रेमी ने विरोध किया तो परिवार के लोगों ने उसके साथ मारपीट की। प्रेमी की पिटाई की प्रेमी को पुलिस को सौंप दिया।  बात जब प्रेमिका को पता चली तो उसे बहुत दुख हुआ। उसने जहर खा लिया। परिवार के लोग गंभीर हालत में अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां प्रेमी युवक भी हालचाल लेने अस्पताल पहुंच गया।उसने भी मौत को गले लगााने की ठान ली।

यह भी पढ़ेंझाँसी भू-माफिया बन पार्षद पति कर रहा नगर निगम की जमीन पर कब्जा

बहरहाल, प्रेमिका की जान बच गई। पूरा मामला पुलिस की संज्ञान में पहुंचा। हालत सुधरने पर प्रेमिका को भी पुलिस अस्पताल से ले आई। प्रेमी-प्रेमिका का कहना है कि वह बालिग हैं। स्वेच्छा से गए थे। शादी करना चाहते हैं। परिजनों पर बंधक बनाकर मारने पीटने आरोप लगाया। पुलिस ने मानवता की अलख जगाई। प्रेमी-प्रेमिका के शिक्षा दस्तावेज देखे। दोनों के निवेदन पर पुलिस उनको गौरा बाबा धाम मंदिर ले गई। वहां पुलिस सुरक्षा के बीच दोनों की शादी करा दी गई।

यह भी पढ़ेंअब चलेगी शीतलहर, राजधानी समेत 21 जिलों में बारिश व कोहरे के आसार

इस अवसर पर महिला सब इंस्पेक्टर प्रभा पांडे मौजूद रहीं। बाद में पुलिस ने दोनों को अपनी सुरक्षा में प्रेमी युगल को उनकी बताई जगह के लिए भेज दिया। अब दोनों बहुत खुश हैं और पुलिस को धन्यवाद दे रहें हैं।उधर, किशोरी के परिजन बेटी को नाबालिग बताकर रिपोर्ट दर्ज कराने का दबाव बना रहे है। इस बारे में अतर्रा थाने के इंस्पेक्टर अखिलेश मिश्रा का कहना है कि दोनों पक्षों से विद्यालय का उम्र प्रमाण पत्र मांगा गया जिसमें दोनो बालिग पाये गए है दोनों फुफेरा भाई व ममेरी बहन है।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
1
funny
1
angry
0
sad
1
wow
1