महोबा भिंड उरई रेलवे लाइन पर बन सकते हैं यह 3 जंक्शन सहित 16 रेलवे स्टेशन

महोबा भिंड जालौन रेल लाइन को आखिर फाइनल सर्वे के लिए 5.43 करोड़ रुपये का फंड रिलीज कर दिया गया है. इस रेल लाइन...

महोबा भिंड उरई रेलवे लाइन पर बन सकते हैं यह 3 जंक्शन सहित 16  रेलवे स्टेशन

महोबा, भिंड, जालौन रेल लाइन को आखिर फाइनल सर्वे के लिए 5.43 करोड़ रुपये का फंड रिलीज कर दिया गया है. इस रेल लाइन की कनेक्टिविटी के लिए बहुत सालों से छेत्र के लोग मांग कर रहे थे, क्योंकि बुंदेलखंड में तमाम इलाके रेलवे सुविधा से आज भी वंचित हैं। आजादी के 75 साल बाद पहली बार महोबा से भिंड तक 217 किमी के रेलवे मार्ग के फाइनल लोकेशन सर्वे कराए जाने का फैसला रेलवे मंत्रालय ने किया। 

यह भी पढ़ें - मानिकपुर झाँसी रेलखंड के दोहरीकरण कार्यो को गति देने, जीएम ने किया विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण

इस बड़ी पहल से हमीरपुर और उरई के तमाम पिछड़े गाँव, विकास के नए आयाम हासिल कर सकेेंगे।हमीरपुर, महोबा और तिंदवारी क्षेत्र के सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल ने इसके लिए बड़ी पहल की। सांसद ने न सिर्फ लोकसभा में यह मामला रखा, बल्कि रेलवे मंत्री को भी पत्र देकर महोबा से भिंड तक बनने वाले 217 किमी रेलवे मार्ग में तीन जंक्शन सहित कई रेलवे स्टेशन बनवाए जाने की मांग की थी।

railway tracks, railway double line, mahoba bhind railway line

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड के कई गांवों को मिलेंगे तीन जंक्शन सहित 20 रेलवे स्टेशन

सांसद की मांग को लेकर रेलवे बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए रेल मार्ग के लिए लोकेशन सर्वे कराए जाने के आदेश दे दिए हैं।राज्यसभा सांसद बाबूराम निषाद ने बताया कि महोबा से भिंड तक 217 किमी रेलवे मार्ग में तीन जंक्शन सहित 20 स्टेशन बनाए जाने के लिए मोदी सरकार ने बुन्देली जनता को बड़ी सौगात दी है। इससे इस पिछड़े क्षेत्र के तमाम गांवों में तेजी से विकास होगा।

यह भी पढ़ें - कानपुर सेंट्रल चित्रकूट एक्सप्रेस समेत यह 10 सवारी गाड़ियां, 8 दिनों के लिए रहेंगी निरस्त

 क्षेत्र के सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल ने बताया कि 217 किमी रेलवे मार्ग में महोबा, भिंड व उरई जंक्शन के साथ ही उमरी, बोनापुरा, चतरथ, माधोगढ़, बंगरा, डकोर, वीरपुरा, जालौन, सरसोकी, रिहुंटा, धमना, गोहांड, राठ, कुरारा, सबुआ, चरखारी में रेलवे स्टेशन बनेंगे।साथ ही वैकल्पिक तौर पर बुन्देलखंड एक्सप्रेस वे की पट्टी किनारे से भी रेलवे लाइन निकाली जा सकती है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे चालू होने के बाद सांसद सहित अन्य जन प्रतिनिधियों ने यहां रेलवे लाइन की सौगात दिलाने के लिए बड़ी पहल की। महोबा से चरखारी व राठ होते हुए उरई तक रेलवे लाइन बिछाई जाने की सांसद की मांग पर रेल मंत्री ने तत्काल रेलवे के बड़े अफसरों को निर्देश देकर पूरी रिपोर्ट मांगी थी। उनके निर्देश पर रेलवे के अफसरों की टीम ने यहां सर्वे किया था। अब रेलवे बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद रेलवे मार्ग का फाइनल लोकेशन सर्वे जल्द ही शुरू होगा।

What's Your Reaction?

like
3
dislike
1
love
5
funny
0
angry
2
sad
2
wow
0