पांच माह पहले फरवरी तक पूरा हो जाएगा, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का 35 प्रतिशत निर्माण पूरा

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का 35 प्रतिशत निर्माण लक्ष्य से पांच महीने पहले 15 फरवरी तक पूरा हो जाएगा..

पांच माह पहले फरवरी तक पूरा हो जाएगा, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का 35 प्रतिशत निर्माण पूरा
बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे निर्माण कार्य

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का 35 प्रतिशत निर्माण लक्ष्य से पांच महीने पहले 15 फरवरी तक पूरा हो जाएगा।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को 2022 तक तैयार करने की कवायद तेज

यूपीडा के सीईओ अवनीश कुमार अवस्थी ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए  बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे निर्माण की समीक्षा की। उन्होंने परियोजना के स्ट्रक्चर्स् की प्रगति तीव्र गति से बढाने,  मशीनरी और टेक्नीकल स्टाफ पर्याप्त संख्या में तैनात करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि कार्यो की गुणवता से किसी भी कीमत पर समझौता नही किया जाएगा।  उन्होने कहा कि जिन स्ट्रक्चर्स् की डिजाइन, संबंधित ठेकेदार ने अभी तक प्रस्तुत नही की गयी है उसे एक सप्ताह में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। अवस्थी ने बताया कि जुलाई 2021 में 35 प्रतिशत का काम  पूरा करने का लक्ष्य है जबकि 5 महीने पूर्व 15 फरवरी को ही ये लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें - नए साल 2021 में चित्रकूट की धरती में लैंड करेंगे विमान

उल्लेखनीय है कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य इस दिनों काफी तेजी से चल रहा है और अब तक कुल 32 प्रतिशत निर्माण कार्य सम्पन्न किया जा चुका है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे में अब तक क्लीयरिंग एण्ड ग्रबिंग का कार्य 92.00 प्रतिशत और मिट्टी का कार्य 73.00 प्रतिशत से अधिक पूर्ण कर लिया गया है।

कुल 819 में से 363 स्ट्रक्चर्स का कार्य भी पूरा किया जा चुका है। अवस्थी ने बताया कि जुलाई 2021 में 35 प्रतिशत का द्वितीय माइल स्टोन पूरा करने का लक्ष्य है जबकि 5 महीने पूर्व ही यानि 15 फरवरी को ही ये लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में होगा विकसित

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे 04 लेन चैड़ा (6 लेन में विस्तारणीय) तथा संरचनाएं 06 लेन चैड़ाई की बनायी जायेंगी। एक्सप्रेसवे के एक ओर 3.75 मी0 चैड़ाई की सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में बनाई जायेगी जिससे परियोजना के आस-पास के गांव के निवासियों को एक्सप्रेसवे पर सुगम आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके।

UPEIDA | Meeting for bundelkhand expressway update

14 दीर्घ सेतु, 06 टोल प्लाजा, 07 रैम्प प्लाजा, 268 लघु सेतु बनेंगे

एक्सप्रेसवे पर 04 रेलवे ओवर ब्रिज, 14 दीर्घ सेतु, 06 टोल प्लाजा, 07 रैम्प प्लाजा, 268 लघु सेतु, 18 फ्लाई ओवर तथा 214 अण्डरपास का निर्माण कराया जायेगा। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे प्रदेश के बुन्देलखण्ड क्षेत्र को देश की राजधानी दिल्ली से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे एवं यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम से जोड़ेगा तथा बुन्देलखण्ड क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के निर्माण कार्य से संबंधित गतिविधियों की एक झलक

एक्सप्रेसवे झांसी-इलाहाबाद राष्ट्रीय मार्ग संख्या-35 भरतकूप के पास जनपद चित्रकूट से प्रारम्भ होकर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर ग्राम कुदरैल के पास जनपद इटावा में समाप्त होगा। एक्सप्रेस-वे की लम्बाई 296.070 किमी होगी।

इस परियोजना से जनपद चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरेया एवं इटावा लाभान्वित होंगे।

What's Your Reaction?

like
7
dislike
0
love
3
funny
0
angry
0
sad
1
wow
3