ईओ मणि मंजरी राय की संदिग्ध मौत की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए 

जनपद बांदा के नगर पालिका और नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों ने नगर पंचायत मनियर जनपद बलिया की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय  की संदिग्ध मृत्यु की उच्च स्तरीय जांच कर संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर आज जिला अधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया है।

ईओ मणि मंजरी राय की संदिग्ध मौत की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए 
EO MANI MANJARI RAI

मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में अधिशासी अधिकारियों द्वारा कहा गया है कि प्रायः नगर पालिका परिषद और नगर पंचायतों में अधिशासी अधिकारियों पर नियम विरुद्ध कार्य एवं गलत भुगतान करने हेतु दबाव डाला जाता है, जिसमे निकाय के अध्यक्षों, सदस्यों एवं संबंधित ठेकेदारों सहित लिपिको की मुख्य भूमिका रहती है।

ऐसा नहीं करने पर अधिशासी अधिकारी पर मनगढ़ंत कूटनीति आदि विभिन्न स्तर से राजनीतिक दबाव डाला जाता है। साथ ही उन्हें किसी न किसी कार्य में फंसा कर उन पर मानसिक दबाव बनाया जाता है। जिससे अधिकांश अधिशासी अधिकारी अपने कार्यों को उक्त राजनैतिक एवं मानसिक दबाव से ही संपादित करते हैं और मानसिक अवसाद की स्थिति में आ जाते हैं।

यह भी पढ़ें : Banda Corona Update : नौ डॉक्टर समेत 20 स्वास्थ्य कर्मी कोरोना की चपेट में

संभवत इस मानसिक दबाव रणनीति के तहत नगर पंचायत मनियर जनपद बलिया की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय द्वारा असामाजिक संदिग्ध अवस्था में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली गई है। यद्यपि यह आत्महत्या न होकर मर्डर किया गया प्रतीत होता है। इस घटना से हम सब अधिशासी अधिकारी बहुत आहत हुए हैं।

हम दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते हैं साथ ही इस पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच की मांग करते हैं। ताकि दोषियों को सजा मिल सके। ज्ञापन नगर पालिका परिषद बांदा के अधिशासी अधिकारी एसके मिश्रा के नेतृत्व में दिया गया। इनके अलावा ईओ अतर्रा ,नरैनी, बिसंडा और बबेरू ईओं के हस्ताक्षर ज्ञापन में है।

यह भी पढ़ें : सोलर हैंडलूम के तहत 300 महिलाओं को स्वरोजगार देने की योजना