बुन्देलखण्ड के इन 8 रेलवे स्टेशनों पर यात्री जल्दी ही स्वचालित सीढ़ी से गुजरेंगे

बुन्देलखण्ड के इन 8 रेलवे स्टेशनों पर यात्री जल्दी ही स्वचालित सीढ़ी से गुजरेंगे
Escalators

बुन्देलखण्ड के आठ रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को एस्केलेटर (स्वचालित सीढ़ी) की सुविधा जल्द मिलेगी। रेल मंत्रालय ने इसके लिए 4 करोड़ रुपये भी स्वीकृत कर दिए हैं। झांसी के जनसंपर्क अधिकारी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि बुन्देलखण्ड के बांदा, चित्रकूट, महोबा, उरई व झांसी और मध्य प्रदेश के खजुराहो, दतिया व ग्वालियर में एस्केलेटर लगाए जा रहे हैं। इन सभी एस्केलेटर पर लगभग चार करोड़ रुपये खर्च आएगा।यह धनराशि रेलवे मंत्रालय ने स्वीकृति कर दी है।

Indian Railways Station

जनसंपर्क अधिकारी ने यह भी बताया कि मंडल वाणिज्य प्रबंधक यात्री सुविधाओं पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। इसी क्रम में धर्मनगरी चित्रकूट रेलवे स्टेशन को उच्चीकृत किया जा रहा है। यहां आरक्षित लाउंज और वातानुकूलित प्रतीक्षालय बनाया जाएगा। उधर, कोरोना संक्रमण के मद्देनजर यात्रियों और कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए झांसी रेलवे स्टेशन पर चार और ग्वालियर स्टेशन पर दो वॉक इन  थर्मल स्कैनर लगाए जा रहे हैं।

रेलवे के कार्यों में प्रवासी मजदूरों को भी काम मिलेगा। उत्तर मध्य और उत्तर रेलवे महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने इसके लिए मध्य रेल के मंडलों और निर्माण संगठनों को निर्देश दिया है। जिलेवार रेलवे परियोजनाओं में मनरेगा से संविदा कार्य और मानव दिवस सृजित किए जाएंगे।