झांसी दुष्कर्म कांड : राज्य मानवाधिकार आयोग ने एसएसपी से चार हफ्ते में​ मांगी रिपोर्ट

उप्र राज्य मानवाधिकार आयोग ने झांसी जनपद में पाॅलीटेक्निक हाॅस्टल में नाबालिग से दुष्कर्म की घटना का स्वतः संज्ञान लिया है..

झांसी दुष्कर्म कांड : राज्य मानवाधिकार आयोग ने एसएसपी से चार हफ्ते में​ मांगी रिपोर्ट

लखनऊ,
  • झांसी के एसएसपी को चार सप्ताह में जांच आख्या प्रस्तुत करने के दिये निर्देश
उप्र राज्य मानवाधिकार आयोग ने झांसी जनपद में पाॅलीटेक्निक हाॅस्टल में नाबालिग से दुष्कर्म की घटना का स्वतः संज्ञान लिया है। आयोग ने झांसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को चार सप्ताह में इस घटना की जांच कराकर जांच आख्या मानवाधिकार आयोग के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।
 
उप्र राज्य मानवाधिकार आयोग के सदस्य न्यायमूर्ति केपी सिंह ने बताया कि झांसी में नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म काण्ड को आयोग ने प्रथम दृष्टया मानवाधिकार हनन का प्रत्यक्ष उदाहरण माना है। मानवाधिकारों की रक्षा के लिए ही आयोग ने यह कदम उठाया है।
 
वहीं उत्तर प्रदेश महिला व्यापार मंडल की सदस्यों ने बार एसोसिएशन को ज्ञापन सौंपा है, इसमें मांग की है कि पॉलिटेक्निक में हुए सामूहिक दुष्कर्म कांड की घटना के मामले में कोई भी अधिवक्ता दोषियों का मुकदमा न लड़े, साथ ही दोषियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने में सहयोग करे। 
 
उल्लेखनीय है कि रविवार सुबह झांसी में एक नाबालिग छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की सनसनीखेज घटना हुई। अपने साथी के साथ कोचिंग से लौटते समय ग्वालियर मार्ग पर स्थित पॉलीटेक्निक के ब्वॉयज हॉस्टल के पास बात करते समय छात्रा को 10 से 15 छात्रों ने घेर लिया और उसे घसीटते हुए हॉस्टल के अंदर ले गए। वहां छात्रा का अश्लील वीडियो बनाया।
इसे डिलीट करने के नाम पर दो हजार रुपये ऑनलाइन युवकों ने अपने खाते में ट्रांसफर कराए और दुष्कर्म किया। मौके पर पहुंचे सिपाही को देखकर छात्र फरार हो गए। पुलिस ने मुख्य आरोपित भरत और रोहित सैनी समेत आठ आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों की उम्र 19 से 24 वर्ष तक की है।   
 
हिन्दुस्थान समाचार

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
1