योगी सरकार ने बुन्देलखण्ड को दी 1.5 अरब की सौगात

प्रदेश के पिछड़े बुन्देलखण्ड क्षेत्र में विकास कार्यों को रफ्तार देने के लिये योगी सरकार ने बुन्देलखंड विकास निधि से 1 अरब 5 करोड़ रुपये की बड़ी सौगात दी है...

योगी सरकार ने बुन्देलखण्ड को दी 1.5 अरब की सौगात
योगी सरकार ने बुन्देलखण्ड को दी 1.5 अरब की सौगात

  • विकास कार्यों की संस्तुति पर क्षेत्रीय विधायक और विधान परिषद के सदस्य करा सकेंगे कार्य

इस धनराशि से नाली, सड़क, खडंजा, पेयजल योजनाओं के अलावा स्कूलों की मरम्मत व जल संरक्षण जैसे विकास कार्य कराये जा सकेंगे। विकास कार्यों की संस्तुति क्षेत्रीय विधायक और विधान परिषद के सदस्य देंगे।

हमीरपुर के सीडीओ कमलेश कुमार वैश्य ने मंगलवार को बताया कि शासन ने बुन्देलखण्ड विकास निधि में एक अरब पांच करोड़ रुपये का बजट दिया है। इसके लिये क्षेत्रीय विधायकों की संस्तुति से प्रस्ताव तैयार करायें जायेंगे। बुन्देलखण्ड विकास निधि में जो प्रस्ताव तैयार होंगे उन्हें आयुक्त से मंजूरी मिलने के बाद कार्यदायी संस्था को नामित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि बुन्देलखंड विकास निधि के माध्यम से निश्चित ही विकास कार्यों को रफ्तार मिलेगी।

यह भी पढ़ें : बुन्देलखण्ड के मंदिर दीपों से जगमगायेगें, और राम नाम से होंगे गुंजायमान

शासन स्तर से बदहाल बुन्देलखण्ड को अलग से अरबों रुपये का बजट प्रतिवर्ष जारी होता है। सूखे बुन्देलखण्ड के विकास के लिए शासन से बुन्देलखण्ड विकास निधि योजना भी संचालित है। जिसमें राज्यांश व जिलांश के तहत अलग अलग मदों पर धन आवंटित किया जा रहा है। राज्यांश के जरिए पुलों व सड़कों के जरिए बजट जारी होता है। शासन के सचिव राजेश  कुमार ने अभी जिलांश के तहत अनुदान संख्या-56 में 75 करोड़ व अनुदान संख्या-83 में 30 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की है।

दोनों बजट को मिलाकर जिले को 17 करोड़ 91 लाख 68 हजार रुपये की धनराशि आवंटित की गई है। शासन के सचिव ने भेजे पत्र में कहा है कि मंडलायुक्त जनपदों के मुख्य विकास अधिकारियों को निर्देश दें कि कार्यों का चुनाव करते समय क्षेत्रीय संतुलन को ध्यान में रखा जाए। सभी विधानसभा क्षेत्रों में समान परिस्थितियों में समान धनराशि का आवंटन कर योजनाएं स्वीकृत की जाएं।

यह भी पढ़ें : श्रीराम जन्मभूमि के लिए बलिदान देने वालों के सपने पांच अगस्त को होंगे साकार

निर्माण कार्य पर व्यय करने से पूर्व सक्षम अधिकारी की टेक्नीकल स्वीकृति प्राप्त कर ली जाए। जनपद स्तर पर तैयार योजनाओं की स्वीकृति देते समय मंडलायुक्त यह ध्यान में रखें कि कार्रवाई निधि के मार्गदर्शी सिद्धांत में उल्लिखित व्यवस्था एवं प्राविधानों के अनुसार की गई है। स्वीकृत योजनाएं एक वर्ष में ही पूर्ण कर ली जाएं। वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की सूचना प्रत्येक माह की 7 तारीख को शासन को अनिवार्य रूप से भेजी जाए।

जनपदवार  आवंटित बजट

जनपद    ~  बजट
हमीरपुर   - 17 करोड़ 91 लाख 68 हजार
बांदा          - 17 करोड़ 14 लाख 13 हजार
महोबा       - 12 करोड़ 17 लाख 83 हजार
चित्रकूट    - 07 करोड़ 66 लाख 35 हजार
झांसी        - 14 करोड़ 84 लाख 60 हजार
ललितपुर - 12 करोड़ 39 लाख 94 हजार
जालौन 22 करोड़ 85 लाख 47 हजार

बुंदेलखंड विकास निधि से रिझाएंगे मतदाताओं को

शासन ने एक साल के लिए विधायक निधि पर रोक लगा दी है। विधायक अपनी निधि से आम जनता की मांग पर उनके क्षेत्र में पानी, नाली खडंजा जैसे कार्य आसानी से कराकर उनका दिल जीतने का काम कर लेते हैं। लेकिन विधायक निधि पर रोक लग जाने से विधायक आम जनता के सामने विकास कार्याें पर हाथ खड़े कर देते हैं। शासन की ओर से जारी बुंदेलखंड विकास निधि के बजट को खर्च करने में यही जनप्रतिनिधि प्रस्ताव देकर विकास कार्य कराते हैं। ऐसे में बुंदेलखंड के विधायकों व विधान परिषद सदस्यों को बजट मिल जाने से उन्हें वोटरों को रिझाने में मदद मिलेगी।

हिन्दुस्थान समाचार