दूल्हे को बिना दूल्हन के लौटना पड़ा, नाबालिग से कर रहा था शादी

नाबालिग से शादी करने आये दूल्हे को बिना दूल्हन के वापस लौटना पड़ा। हालांकि पुलिस के सामने दुल्हन बनी किशोरी ने खुद के बालिग होने का दावा किया, लेकिन अपने दावे को सही साबित नहीं कर सकी। यह बात नगर में चर्चा का विषय बनी हुई है...

दूल्हे को बिना दूल्हन के लौटना पड़ा, नाबालिग से कर रहा था शादी

नजीबाबाद (बिजनौर)

मंगलवार को सहारनपुर के छुटमलपुर क्षेत्र से दूल्हा निखिल अपने भाई अखिल, बहन रानी व बबीता और कुछ अन्य के साथ बारात लेकर सोमवार को नजीबाबाद में रायपुर मार्ग स्थित एक कालोनी में पहुंचा था। निखिल जिस लड़की से शादी कर रहा था, वह नाबालिग थी। इसकी भनक लगने पर सामाजिक कार्यकर्ता राजीव शर्मा व जीनत परवीन मौके पर पहुंचे और शादी रुकवा दी। पुलिस ने जांच की तो दुल्हन बनी किशोरी के आधार कार्ड में उसकी उम्र 16 साल निकली जबकि दूल्हे की उम्र 19 थी।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : चारबाग स्टेशन पर शॉर्ट सर्किट से दो एटीएम जलकर राख हुए

महिला कल्याण विभाग की इंटीग्रेटेड चाइल्ड प्रोटेक्शन स्कीम (आइसीपीएस) से जुड़ी जीनत परवीन किशोरी को अपने साथ वन स्टॉप सेंटर बिजनौर ले गई और दूल्हा बगैर दुल्हन लिए लौट गया। सामाजिक कार्यकर्ता जीनत परवीन ने बताया कि किशोरी को वन स्टॉप सेंटर पर रखकर कोरोना टेस्ट और मेडिकल कराया जाएगा। इसके बाद किशोरी को बाल कल्याण समिति को सौंपा जाएगा। किशोरी से पूछताछ एवं बाल शोषण की जांच के बाद बाल कल्याण समिति किशोरी को उसके स्वजनों के सुपुर्द करेगी। उसके बालिग होने तक शादी नहीं होने दी जाएगी।

यह भी पढ़ें : बेरोजगारी के लिए मनरेगा और ग़रीब वर्ग के लिए 'न्याय' लागू करे

हिन्दुस्थान समाचार