राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बाँदा में इक्यूवेशन सेंटर की सुविधा उपलब्ध

राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बाँदा में आत्मनिर्भर भारत सृजन में स्टार्टअप एवं एंटरप्रेन्योरशिप की भूमिका विषय पर वेविनार का आयोजन किया गया...

राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बाँदा में इक्यूवेशन सेंटर की सुविधा उपलब्ध
Government Engineering College, Banda

राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बाँदा में आत्मनिर्भर भारत सृजन में स्टार्टअप एवं एंटरप्रेन्योरशिप की भूमिका विषय पर वेविनार का आयोजन किया गया। वेविनार का शुभारम्भ आई.आई.सी. के अध्यक्ष डॉ सिद्धार्थ अरजरिया ने वेविनार के शीर्षक पर प्रकाश डाला तथा मुख्य अतिथि एवं वक्ताओं का स्वागत किया।

यह भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश में आधी रात आठ जिलों के कप्तान समेत 13 आईपीएस अधिकारियों के तबादले

संस्थान के निदेशक प्रो. एस.पी. शुक्ला ने संस्थान के विकास में की जा रही विभिन्न विकास गतिविधियों की आख्या प्रस्तुत की एवं राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज बाँदा में इक्यूवेशन सेंटर की सभी उद्यमियों के लिए उपलब्धता होने की जानकारी दी। वेबिनार के मुख्य अतिथि कॉलेज के बोर्ड ऑफ गवर्नेंस के अध्यक्ष के के परोलिया ने आत्मनिर्भर भारत को भारत निर्माण के लिए आवश्यक बताया एवं संस्थान द्वारा इस दिशा में की जा रही पहल का उत्साहवर्धन किया। वेबिनार के मुख्य वक्ता मेक्स वर्थ इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम के निदेशक  संजय गर्ग ने स्टार्टअप शुरू करने के लिए आवश्यक बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने छात्रों को बिना हतोत्साहित हुए इस दिशा में बढ़ने तथा मार्केट डिमांड को समझकर उपयुक्त प्रोडक्ट बनाने एवं रोजगार सृजन की आवश्यकता पर बल दिया।

यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में कोरोना से अब तक 1668 लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 82 हजार के पार

संस्थान के एल्युमिनी एवं एकडे एम्बेडिड सिस्टम के संस्थापक दीपक सिंह व आकांक्षा ने व्याख्यान देते हुए स्टार्टअप शुरू करने में एवं उसकी प्रारंभिक स्तर पर चलाने में आयी समस्याओं को बिन्दुवार प्रस्तुत किया। आई.आई.सी. के उपाध्यक्ष श्री अभिजीत सिंह ने आई.आई.सी. की गतिविधियों की रूपरेखा प्रस्तुत की।

वेबिनार का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन आई0आई0सी0 के सयोंजक प्रो0 दीप सिंह ठाकुर ने किया। वेविनार में लगभग 90 छात्रों एवं संकाय सदस्यों ने प्रतिभाग किया।

यह भी पढ़ें : कोविड अस्पताल की खिड़की तोड़कर भागे दो कैदी, जिले में मचा हड़कंप