यूपी में शिक्षा व्यवस्था को लेकर आज शाम बड़ा फैसला

कोरोना संकट में शिक्षा की व्यवस्था को कैसे बेहतर कैसे किया जाए इसको लेकर मुख्यमंत्री आज करेंगे बैठक, 1 जुलाई से प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों को बुलाने की तैयारी पर भी होगी चर्चा।

यूपी में शिक्षा व्यवस्था को लेकर आज शाम बड़ा फैसला
आज शाम की मीटिंग में सीएम योगी लेंगे बड़ा फैसला

शिक्षा व्यवस्था को कैसे बेहतर किया जाए इस संबंध में आज प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक बुलाई है। इस बैठक में शिक्षा व्यवस्था में कैसे सुधार किया जाए इस संबंध में चर्चा होगी। बैठक में बेसिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा के  जिम्मेदार अधिकारी भी शामिल होंगे।

बताते चलें कि 1 जुलाई से प्रदेश के सभी प्राथमिक विद्यालय खोल दिए जाएंगे और शुरुआत में अध्यापकों को बुलाया जाएगा साथ ही बैठक में सजा होगी की इस संकट काल में बच्चों की शैक्षिक गतिविधियों को कैसे पटरी में लाया जाए व विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं पर भी चर्चा होगी।इस बैठक में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी भी मौजूद रहेंगे।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मध्य मार्च से सभी परिषदीय विद्यालय बंद कर दिए गए थे। मार्च के बाद से बंद हुए विद्यालय 01 जुलाई से खोले जाएंगे। विद्यालयों में सभी शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य की गई है। शिक्षकों को विद्यालय में उपस्थित होकर शासन की ओर से दिए गए निर्देशों के अनुसार काम करना होगा।

मध्यान्ह भोजन योजना के डीबीटी के लिए बच्चों के अभिभावकों की बैंक डिटेल एकत्रित कर प्रेरणा पोर्टल पर डाउनलोड करनी होगी। साथ ही प्रधानाध्यापकों को अपने विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाओं का शत प्रतिशत सही डांटा मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड करना होगा। शिक्षकों की सेवा पुस्तकों के सत्यापन का भी काम कराया जाएगा।

मिशन प्रेरणा के अंतर्गत ई पाठशाला आयोजित कराई जाएगी। सभी शिक्षकों की ओर से दीक्षा एप डाउनलोड करके प्रतिदिन कम से कम 10 अभिभावकों से संपर्क कर उन्हें दीक्षा एप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित किया जाएगा, ताकि ऐप के माध्यम से बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा सके।