योगी सरकार ने शुरू की प्रवासी मजदूरों को रोजगार देनी की तैयारी

योगी सरकार ने शुरू की प्रवासी मजदूरों को रोजगार देनी की तैयारी
सरकारी आवास पर उच्च स्तरीय बैठक में लाॅकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लखनऊ,

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश सरकार विभिन्न राज्यों से सभी कामगारों और श्रमिकों की सुरक्षित व सम्मानजनक प्रदेश वापसी के लिए कृतसंकल्पित है। राज्य सरकार कामगारों और श्रमिकों को रोजगार तथा सामाजिक सुरक्षा भी प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए प्रदेश सरकार ने एक आयोग गठित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने इस आयोग के गठन की कार्यवाही को तेजी से आगे बढ़ाने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री योगी सोमवार को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश वापस आने वाले कामगारों और श्रमिकों को क्वारंटीन सेन्टर में ले जाते हुए वहां उनकी स्क्रीनिंग की जाए। जो स्वस्थ होंए उन्हें राशन किट उपलब्ध कराते हुए होम क्वारंटीन के लिए घर भेजा जाए। होम क्वारंटीन के दौरान इन्हें एक हजार रुपए का भरण पोषण भत्ता भी दिया जाए। नियमित रूप से खाद्यान्न की व्यवस्था के लिए इनके राशन कार्ड भी बनाए जाएं। उन्होंने क्वारंटीन सेन्टर तथा कम्युनिटी किचन में साफ सफाई तथा सुरक्षा के बेहतर इंतजाम सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विशेष आर्थिक पैकेज के माध्यम से कामगारों और श्रमिकों के लिए आवास निर्माण की व्यवस्था की जाए। श्रमिकों के रहने के लिए डॉरमेट्री निर्माण पर भी कार्य किए जाने की आवश्यकता हैए इससे कम धनराशि में उन्हें अच्छी सुविधा प्राप्त होगी।

उच्च स्तरीय बैठक में लाॅकडाउन व्यवस्था की समीक्षा के प्रमुख बिंदु-

◆राज्य सरकार कामगारों/श्रमिकों को रोजगार तथा सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध
◆प्रधानमंत्री जी के विशेष आर्थिक पैकेज के माध्यम से कामगारोंध्श्रमिकों के लिए आवास निर्माण की व्यवस्था की जाए
◆कामगारों/श्रमिकों की दक्षता का विवरण संकलित करने के लिए स्किल मैपिंग का कार्य निरन्तर जारी रखा जाए
◆कामगारों/श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए जनपद 
स्तर पर जिला सेवायोजन कार्यालय की उपयोगिता को पुर्नस्थापित किया जाए
◆लाॅकडाउन के नियमों का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश
◆प्रदेश की एम0एस0एम0ई इकाइयों द्वारा निर्मित पी0पी0ई0 किटए थ्री लेयर मास्क व अन्य वस्तुओं की खरीद राज्य सरकार के स्तर से की जाए
◆मास्क का उपयोग न करने पर जिस व्यक्ति का चालान किया जाएए उसे ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वयं सहायता समूहों 
द्वारा निर्मित मास्क उपलब्ध कराया जाए
◆सभी जिला चिकित्सालयोंए मेडिकल काॅलेजों तथा अन्य चिकित्सा संस्थानों को ट्रूनैट मशीन उपलब्ध कराई जाए
◆क्वारंटीन सेन्टर में पल्स आॅक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएएआवश्यकतानुसार अतिरिक्त संख्या में इन्फ्रारेड थर्मामीटर व्यवस्था की जाए
◆मुख्यमंत्री ने विभिन्न जिला चिकित्सालयों तथा मेडिकल काॅलेजों में भर्ती मरीजों से प्राप्त फीडबैक के क्रम में प्रमुख सचिव स्वास्थ्य एवं प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा को व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश दिए
◆मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा कोविड तथा नाॅन कोविड अस्पतालों से संवाद स्थापित करते हुए कार्यों की जानकारी प्राप्त की जाएगी
◆बड़ी संख्या में कामगारोंध्श्रमिकों की प्रदेश वापसी को देखते हुए बरसात के मौसम में भी मनरेगा के कार्यों के संचालन की वैकल्पिक सम्भावनाओं को तलाशा जाए इससे इन्हें रोजगार उपलब्ध कराने में सुविधा होगी
◆आम के निर्यात के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश