कायाकल्प योजना में सात चिकित्सा इकाइयां चयनित

कायाकल्प योजना के तहत वर्ष 2019.20 के लिए जिले की सात चिकित्सा इकाइयों का स्वास्थ्य केंद्रों का चयन किया गया है। इन चिकित्सा इकाइयों में एक शहरी, चार न्यू प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और दो ब्लाक स्तरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है। तीन सदस्यी जांच टीम ने इन स्वास्थ्य केंद्रों में जाकर अंतिम चरण का एसेसमेंट किया।

कायाकल्प योजना में सात चिकित्सा इकाइयां चयनित
Jalaun-Medical-Units

  • तीन सदस्यीय टीम ने किया अंतिम चरण का असिस्मेंट

बता दें कि वर्ष 2019.20 के लिए शहर क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बघौरा, नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शेखपुर, भेंड़, ऐर, ईटों के साथ ब्लाक स्तरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र डकोर और रामपुरा को भी कायाकल्प योजना के तहत चुना गया था। इसके लिए तैयारी भी शुरु हो गई थी। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार राज्य स्तरीय की बजाय मंडल स्तर की टीम एक्सर्टनल एसेसमेंट के लिए भेजी गई है।

इस बार मंडलीय स्तर पर मंडलीय परामर्शदाता क्वालिटी इश्योरेंस डा.राजेश पटेल, मंडलीय कार्यक्रम प्रबंधक आनंद चौबे, जिला कार्यक्रम प्रबंधक झांसी ऋषिराज ने जनपद के तीसरे चरण का एक्सर्टनल एसेसमेंट किया। जनपदीय कायाकल्प परामर्शदाता डा. अरुण कुमार ने बताया कि एसेसमेंट के दौरान टीम ने राज्य स्तर पर निर्धारित 180 बिंदुओं की चेक लिस्ट के आधार पर जांच  की है। इसमें चिकित्सा इकाई के रखरखाव, स्वच्छता, बायो मेडिकल बेस्ट प्रबंधन, संक्रमण नियंत्रण, सहयोगी सेवाएं, स्वच्छता को बढ़ावा देने की सेवाए, चिकित्सालय परिसर की चाहरदीवारी के आसपास के क्षेत्र निरीक्षण कर बिंदुवार चेक लिस्ट तैयार  की है।

यह भी पढ़ें : सावन सोमवार को भक्तों का सैलाब देख मालियों के खिले चेहरे

यदि चिकित्सा इकाई के 70 प्रतिशत से अधिक अंक आते है तो उसे पुरस्कार के लिए चुना जाएगा। जिला स्तर पर प्रथम स्थान आने पर दो लाख रुपये की पुरस्कार राशि दी जाती है। इसके अलावा 70 प्रतिशत तक अंक आने पर पचास पचास हजार रुपये की सांत्वना राशि दी जाती है। एसेसमेंट का काम 27 जून से शुरु हो गया था और 6 जुलाई को रामपुरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एसेसमेंट हुआ। उन्होंने बताया कि जिला पुरुष अस्पताल और जिला महिला अस्पताल का राज्य स्तरीय एसेसमेंट हो चुका है। उसका रिजल्ट आना शेष है।

अगले साल के लिए सभी चिकित्सा इकाईयां कायाकल्प में शामिल

वर्ष 2020-21 के लिए जनपद की सभी चिकित्सा इकाइयों को शामिल किया गया है। जिसमें दो जिला स्तरीय चिकित्सालय, सात सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पांच ब्लाक स्तरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, तीस नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 50 हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर तथा छह नगरीय स्वास्थ्य केंद्रों का शामिल किया गया है। इनकी तैयारियां शुरु हो गई है। प्रशिक्षण का काम अगले हफ्ते से शुरु किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : वामदेवेश्वर मंदिर में उमड़ी शिव भक्तों की भीड, पाइप से जलाभिषेक