मारुति कार के फ्यूल पंप में मिली खामी, कम्पनी ने वापस मंगाई लाखों कारें

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने बुंधवार को बताया कि उसने 1,34,885 वैगनआर और बलेनो मॉडल की कारें वापस मंगाई (रिकॉल की) हैं। एमएसआई ने कहा कि उसके ईंधन (फ्यूल) पंप में खामी मिली है, जिसे जांच के बाद बदलकर कंपनी देगी। इसके लिए कंपनी के अधिकृत डीलर्स की ओर से संबंधित कार मालिक से संपर्क किया जाएगा...

मारुति कार के फ्यूल पंप में मिली खामी, कम्पनी ने वापस मंगाई लाखों कारें
Maruti Industries

नई दिल्‍ली

एमएसआई ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है वह स्वैच्छिक तौर पर ये काम कर रही है। कंपनी ने बताया है कि उसने 15 नवंबर, 2018 से लेकर 15 अक्टूबर, 2019 के बीच विनिर्मित वैगन-आर (एक लीटर) और 8 जनवरी, 2019 से लेकर 4 नवंबर, 2019 के बीच विनिर्मित बलेनो (पेट्रोल) कारों को वापस मंगाया है।

कंपनी मुफ्त में दूर करेगी यह गड़बड़ी

कंपनी के मुताबिक इस वापसी में कंपनी के दोनों तरह के कुल 1,34,885 वाहन वापस आ सकते हैं। एमएसआई इस पहल से वैगन-आर की 56,663 इकाइयों और बलेनो की 78,222 इकाइयों में ईंधन पंप खराब होने का मामला हो सकता है। कंपनी ने बताया कि इसमें खराब हिस्से को बिना किसी शुल्क के बदला जाएगा।

यह भी पढ़ें : बुंदेली भाषा व साहित्य पर राष्ट्रीय वेबीनार 19 को 

मारुति की बिक्री जून में 54 फीसदी गिरी

उल्‍लेखनीय है कि मारुति सुजुकी इंडिया की जून महीने में कुल बिक्री 54 फीसदी घटकर 57,428 यूनिट रह गई थी, जबकि मारुति ने पिछले साल जून में 1,24,708 गाड़ियां बेची थीं। वहीं, मारुति की घरेलू बिक्री जून में 53.7 फीसदी घटकर 53,139 यूनिट रही। ये आंकड़ा जून 2019 में 1,14,861 यूनिट का था। एमआईएस ने कहा कि उसने जून में 4,289 गाड़ियों का निर्यात किया, जो पिछले साल के समान महीने के मुकाबले 56.4 फीसदी कम है। इसी तरह जून के दौरान मारुति की ऑल्टो और वैगनआर जैसी छोटी कारों की बिक्री 10,458 यूनिट्स रही, जो 44.2 फीसदी कमी को दर्शाती है। 

यह भी पढ़ें : न्यायालय में भी पहुंचा कोरोना, कोर्ट हो सकती है बंद

(हिन्‍दुस्‍थान समाचार)