बुन्देलखण्ड में आसमान से बरसी आग भीषण गर्मी से लोग घरों में दुबके

बुन्देलखण्ड में आसमान से बरसी आग भीषण गर्मी से लोग घरों में दुबके

बुन्देलखण्ड में आज दूसरे दिन भी आसमान से आग बरसती रही, सूरज की तपिश से धरती इस कदर तपती रही कि लोग घरों में दुबकने के लिए मजबूर हो गए। बुन्देलखण्ड के सभी जनपदों में 44 और 45 डिग्री के बीच पारा का उतार-चढ़ाव बना रहा।

बुन्देलखण्ड में गत वर्षो की भांति इस वर्ष भी मई माह के अंतिम में गर्मी ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है।पिछले तीन-चार दिनों से सूर्य देव की के रौद्र रूप के कारण आसमान से आग बरस रही है। सवेरे से ही तापमान बढ़ने से गर्म लू के थपेड़े चलते है जिससे सड़कों पर सन्नाटा छा जाता है। आज ईद का त्यौहार था इसके बाद भी दोपहर में लोग घरों में दुबके रहे। 

इस दौरान बड़ी संख्या में लोग लू की चपेट में आ रहे हैं। आज बुन्देलखण्ड के बांदा में 45.5 चित्रकूट में 45 झांसी में 44 ललितपुर 43 जालौन 45 हमीरपुर 44 छतरपुर 44, दतिया 44, दमोह 44, टीकमगढ़ 44, निवाड़ी 44, डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया। इस संबंध में बांदा कृषि विश्वविद्यालय मौसम इकाई के प्रवक्ता डॉक्टर दिनेश साहा ने बताया कि आज कल तापमान अत्यधिक बढ़ जानें के कारण जनजीवन प्रभावित हो रहा है। मानव, पशु पक्षी सभी असहज महसूस कर रहे हैं। गर्म हवा के थपेड़े सभी के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। 

ऐसी स्थिति अभी कुछ और दिन जारी रहने के संकेत हैं। जब तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास होता है तो लूं कि सिथति बनती है, जो मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकर होता है। इस समय यह सलाह दी जाती है कि अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले। हमेशा पानी पीकर निकले तथा साथ में पानी अवश्य रखें। यथा सम्भव अपने शरीर को ढककर रखें। पशु पक्षियों को भी समय समय पर पानी पिलाते रहे। आमतौर पर इस समय जिले का सामान्य अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए जो कि बढ़कर 45 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है। न्युनतम तापक्रम भी सामान्य 27 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया जा रहा है। न्युनतम तापक्रम सामान्य से अधिक होने के कारण रात में भी गर्मी से राहत नहीं मिल रही है। 

कल का अधिकतम एवं न्युनतम तापमान 45.2 तथा 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज की गई जबकि आज का अधिकतम तापमान 44.6 और न्युनतम 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।