बुंदेलखण्ड के अग्रदूत : बुंदेलखण्ड के गौरवशाली अतीत से जुडने का मौका 

वरिष्ठ पत्रकार, शिक्षाविद व रचनाकार राकेश कुमार अग्रवाल की पुस्तक बुंदेलखण्ड के अग्रदूत कुछ बातें कुछ यादें का अनावरण प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र..

बुंदेलखण्ड के अग्रदूत : बुंदेलखण्ड के गौरवशाली अतीत से जुडने का मौका 

मुख्य सचिव ने  पत्रकार राकेश कुमार अग्रवाल की पुस्तक का किया अनावरण

वरिष्ठ पत्रकार, शिक्षाविद व रचनाकार राकेश कुमार अग्रवाल की पुस्तक बुंदेलखण्ड के अग्रदूत ष्कुछ बातें कुछ यादेंष् का अनावरण प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने लखनऊ में करते हुए कहा कि जिन विभूतियों को पुस्तक में शामिल किया गया है उन सभी का साहित्य, खेल, इतिहास व फिल्म का राष्ट्रीय स्तर पर अप्रतिम योगदान रहा है। 

यह भी पढ़ें - नगर पालिका बांदा चेयरमैन के भ्रष्टाचार का खुलासा, आयुक्त ने की कार्यवाही की संस्तुति

उन्होंने कहा कि एक ही किताब में सभी को समाहित करके राकेश कुमार अग्रवाल ने अनूठा प्रयास किया है। नई पीढी के लोगों के लिए यह पुस्तक प्रेरणा के साथ साथ बुंदेलखंड के गौरवशाली अतीत से जुडने का मौका प्रदान करेगी। मुख्य सचिव ने कहा कि रानी लक्ष्मीबाई, मस्तानी व रायप्रवीण जैसे महिला किरदार यह साबित करते हैं कि बुंदेलखंड में नारी सशक्तिकरण तो सैकडों वर्ष पहले से था। बुंदेलखंड की महिलाओं ने परम्परा व संस्कारों का दामन थामकर राष्ट्रसेवा से भी पीछे नहीं हटीं।

यह भी पढ़ें - डिफेंस कॉरिडोर में बेहद सस्ती दरों पर मिलेगी जमीन : सतीश महाना

उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थानों में यह पुस्तक पहुंचे ऐसा उनका प्रयास रहेगा मुख्य सचिव ने कहा कि शारीरिक दिव्यांगता  के बावजूद राकेश कुमार अग्रवाल ने अपनी मातृभूमि की सेवा का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया है। कहा कि, राकेश जी ने प्रस्तुत किताब में बुंदेलखंड का साहित्यिक, सांस्कृतिक पक्ष के जिन अनछुए पहलुओं को उजागर किया है उससे पाठकों को नई नवेली जानकारी के साथ उनका ज्ञानवर्धन होगा। मुख्य सचिव ने कहा कि उनकी  इच्छा थी कि वह किताब का विमोचन कुलपहाड आकर करें, उन्होंने आश्वासन दिया कि शीघ्र ही वे महोबा व कुलपहाड जरूर आएंगे।

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि अभी तक बुंदेलखंड की पहचान गरीबी, पिछडापन व पलायन की थी लेकिन बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे व डिफेंस काॅरिडोर से बुंदेलखंड के विकास को पंख लगेंगे। बुंदेलखंड से दिल्ली जाने का यातायात सुगम होगा एवं समय भी बचेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी बुंदेलखंड के विकास के प्रति दृढ निश्चित हैं। इस मौके पर मुख्य सचिव ने पुस्तक के रचनाकार राकेश कुमार अग्रवाल से पुस्तक की रचनाधर्मिता, पुस्तक लिखने की प्रेरणा जैसे तमाम सवालों पर जानकारी ली।

यह भी पढ़ें - मुख्यमंत्री योगी करेंगे धर्म नगरी चित्रकूट के 48वें राष्ट्रीय रामायण मेले का उद्घाटन

रचनाकार राकेश कुमार अग्रवाल ने कहा कि उनके लिए यह वेदना का विषय था कि बुंदेलखंड की महान विभूतियों पर कोई पुस्तक बुंदेलखंड के किसी शहर  में उपलब्ध नहीं थी। यही वेदना पुस्तक लिखने की प्रेरणा बनी, इस लोकार्पण समारोह के अवसर पर व्यापार मंडल के प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद पुरवार, सामाजिक कार्यकर्ता व पत्रकार सुरेन्द्र कुमार अग्रवाल, रामरतन भुवनेश कुमार पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल अमित अग्रवाल, युवा व्यापार मंडल के महामंत्री कल्पित अग्रवाल, मुकेश कुमार, अनुज शर्मा व संदीप तिवारी भी मौजूद थे।बताते चलें कि, बुंदेलखंड के जनपद महोबा निवासी राकेश कुमार अग्रवाल कई वर्षों तक बांदा जनपद में रहकर ईटीवी के लिए रिपोर्टिंग करते करते रहे हैं।

यह भी पढ़ें - बाँदा में बालू के अवैध खनन में 12 ट्रक सीज

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0