भोपाल में 31 जुलाई तक हर रविवार को रहेगा कर्फ्यू, गृहमंत्री ने बताया जरुरी

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजधानी भोपाल में भी रोजाना कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशाासन ने भोपाल में 31 जुलाई तक हर रविवार को कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है...

भोपाल में 31 जुलाई तक हर रविवार को रहेगा कर्फ्यू, गृहमंत्री ने बताया जरुरी
Bhopal, Madhya Pradesh

भोपाल, (हि.स.)

इस दौरान सभी बाजार, कार्यालय, प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद रहेंगे। और बेवजह लोगों के बाहर घूमने पर पाबंदी रहेगी। आदेश का उल्लंघन करने पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। हालांकि इस दौरान दूध पार्लर और मेडिकल जैसी जरुरी सेवाओं को चालू रखा रहेंगी।

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने रविवार को लॉकडाउन लगाए जाने के निर्णय को जरुरी बताया है। शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए मंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में किल कोरोना अभियान से हम कोरोना पर नियंत्रण कर रहे हैं, लेकिन जिस तरह कोरोना देश-दुनिया में पांव पसार रहा है, उसकी आशंका को भांपते हुए रविवार को टोटल लॉकडाउन किया है। उन्होंने कहा कि रविवार को बाजारों में भीड़ बढ़ रही थी। अनलॉक का मकसद आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाना है, लोगों को सतर्कता को लेकर गंभीर होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : भोपाल में अनलॉक के बाद लगातार बढ़ रहा कोरोना का संक्रमण, फिर मिले 66 नये मामले

सीएम शिवराज के ग्वालियर- चंबल दौरे को लेकर गृहमंत्री ने कहा कि पड़ोस के राज्यों से कोरोना मुरैना, ग्वालियर में पहुंच रहा है। आज सीएम खुद पहुंच रहे हैं, वहां खुद कोरोना की स्थिति की समीक्षा करेंगे। वहीं ग्वालियर दौरे को उपचुनाव से दूर बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता कोरोना पर नियंत्रण करने की है।

महाकाल मंदिर के शंखद्वार का शुद्धिकरण कांग्रेस का पाखंड

वहीं कांग्रेस नेताओं के शुद्धिकरण करने महाकाल मंदिर जाने को गृहमंत्री मिश्रा ने पॉलिटिकल पाखण्ड बताया है। उन्होंने कहा है कि भगवान महाकाल मंदिर के शंखद्वार के शुद्धिकरण की मप्र कांग्रेस की बात राजनीतिक पाखंड है, कांग्रेस को कम से कम पवित्र धार्मिक स्थलों को लेकर इस तरह की राजनीति नहीं करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : बांदा शहर में बगैर मास्क लगाए घूमने वालों पर एस पी का चला चाबुक