टाॅप-20  छात्र/छात्राओं के घरों तक बनेंगी पक्की सड़कें - केशव प्रसाद मौर्य

टाॅप-20  छात्र/छात्राओं के घरों तक बनेंगी पक्की सड़कें - केशव प्रसाद मौर्य
टाॅप-20  छात्र/छात्राओं के घरों तक बनेंगी पक्की सड़कें - केशव प्रसाद मौर्य
टाॅप-20  छात्र/छात्राओं के घरों तक बनेंगी पक्की सड़कें - केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं परीक्षा में सफल सभी परीक्षार्थियों को अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि टाॅप-20 छात्रों व छात्राओं के घरों तक व उनके स्कूलों तक डॉक्टर ए०पी०जे० अब्दुल कलाम गौरव पथ के नाम से पक्की सड़के बनाई जाएगी तथा वहां पर एक बड़ा बोर्ड लगाकर छात्र/छात्रा के बारे में पूरा विवरण लिखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि इससे छात्रों का मनोबल बढ़ेगा और उनके गांव तथा स्कूलों का भी नाम रोशन होगा और वह आगे की शिक्षा ग्रहण करने के लिए और अधिक प्रेरित होंगे। उन्होंने कहा कि आईसीएससी और सीबीएसई बोर्ड में सफल होने वाले सभी टॉप ट्वेंटी छात्र-छात्राओं के घरों तक भी पक्की सड़कें बनवाई जाएंगी। उन्होंने अनुत्तीर्ण छात्राओं एवं छात्रों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा है कि वह निराश न हो। "कोशिश करने वालों की हार नहीं होती", मेहनत करें, उन्हें भी सफलता मिलेगी।

गौरतलब है, कि प्रतिभा एवं शिक्षा को प्रोत्साहन व सम्मान देने के उद्देश्य से लोक निर्माण विभाग में उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशन में "डॉ ए०पी०जे० अब्दुल कलाम गौरव पथ योजना" संचालित की जा रही है, जिसके तहत वर्ष 2017 के 24 मेधावी छात्रों के निवास स्थलों तक रू 7.40 करोड़ की धनराशि से सड़कें का निर्माण/मरम्मत कार्य कराया गया।  वर्ष 2018 के 89 मेधावी छात्रों के निवास स्थल तक 23.17 करोड़ की लागत सड़कें बनवाई/मरम्मत की जा चुकी हैं  तथा 2019 के  मेधावी छात्रों के निवास स्थल तक रू 09.89 करोड़ की लागत से सड़को के निर्माण/मरम्मत का कार्य प्रगति पर है।

गौरव पथ योजना मे बांदा के अफसरों ने की अनदेखी

उत्तर प्रदेश की सरकार ने मेधावी छात्रों को सम्मानित करने और उनके नाम से मेन रोड से मेधावी छात्रों के घर तक मेधावी छात्रों के नाम से सड़क बनाने की योजना छात्रों को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए चलाई गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मेधावी छात्रों को लखनऊ बुलाकर सम्मानित किया गया था और जनपद बांदा के पीडब्ल्यूडी विभाग को मेधावी छात्रों के घर तक रोड बनाने का आदेश जारी किया गया था।

बाँदा में  सन 2018-19 में एक छात्र और एक छात्रा को सम्मानित भी किया गया था। प्रदेश में छठवां स्थान प्राप्त इंदिरा नगर निवासी अभिषेक शुक्ला के घर तक गौरव पथ बनवाया गया, जो मात्र कुछ महीनों में ही ध्वस्त हो गया।

फाईल फोटो

सरकार ने मेधावी छात्रों को सम्मानित कर गौरव पथ जैसी अच्छी योजना को पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा लीपापोती कर बना तो दिया गया और पावर हाउस के सामने छात्र की फोटो के साथ बोर्ड भी लगा दिया, लेकिन यह सड़क कुछ ही महीनों में टूट गई। वही दूसरी छात्रा को सम्मानित तो किया गया, लेकिन रोड अभी तक नहीं बनाई गई।

फाईल फोटो

सम्मानित छात्रा के परिवार ने बताया कि सरकार योजना तो बहुत अच्छी बनाती है लेकिन यह अधिकारी ही सब खा पीकर डकार जाते हैं। यदि गौरव पथ मजबूत बनता तो शहर में मेधावी छात्रों का नाम और उसे देख कर अन्य छात्रों को इससे प्रेरणा मिलती।