झाँसी में पिछले 24 घंटे में एक साथ मिले 127 कोरोना संक्रमित मरीज

बुन्देलखण्ड के जनपद झांसी में इस समय कोरोना महामारी ने कहर बरपा रखा है। इस बीमारी ने इस जनपद में अब तक 40 लोगों को निगल लिया है। इसके बाद भी लोगों में भय नहीं है, लोगों द्वारा सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं किया जा रहा हैं। इसी कारण इस क्षेत्र में कोरोना वायरस दिनों दिनों पैर पसारता जा रहा है...

झाँसी में पिछले 24 घंटे में एक साथ मिले 127 कोरोना संक्रमित मरीज
Jhansi Corona Update

अगर पिछले 24 घंटे के रिकॉर्ड पर गौर करें तो एक साथ 127 संक्रमित मरीज मिलने से जनपद में हड़कंप मच गया है। कल तीन और मरीजों की मौत हो जाने से कोरोना ने अब तक किस जनपद में 40 मरीजों को अपना निवाला बनाया है।

यह भी पढ़ें : न्यायालय में भी पहुंचा कोरोना, कोर्ट हो सकती है बंद

बताते चलें कि जब पूरे देश में कोरोना ने दायरा बढ़ाकर हजारों मरीजों को अपनी चपेट में ले रखा था।तब तक झांसी में कोरोना बीमारी का नामोनिशान नहीं था, लेकिन जैसे ही कोरोना ने जिले में दस्तक दी तो यहां मरीजों की संख्या बढ़ती गई। संक्रमण के प्रभाव को रोकने के लिए जिला अधिकारी आद्रा वामसी, एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव सड़कों पर उतर कर लोगों से अपील करते रहे कि वह सामाजिक दूरी का पालन करें ,भीड़ में शामिल न हो, और भीड़ न बढ़ाएं लेकिन जनता ने प्रशासनिक अधिकारियों की अपील को नजरंदाज किया। जिसे देखो वही बिना मास्क के घूमता नजर आया। हजारों लोगों के चालान किए गए। इसके बाद भी लोगों की लापरवाही बंद नहीं हुई। जिससे कोरोना का संक्रमण बढ़ता चला गया।

यह भी पढ़ें : बाँदा का मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल बना सबसे बड़ा हॉटस्पॉट

जनपद में इस समय कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 737 हो गई है। इनमें से 496 एक्टिव केस हैं जबकि केवल 202 मरीज स्वस्थ होकर घर जा पाए हैं। जिस गति से यहां महामारी फैल रही है उसकी रोकथाम के लिए जरूरी है कि लोगों को कोविड-19 के नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित किया जाए।सोशल डिस्टेंस, मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग न करने वाले व्यक्तियों को दंडित किया जाए तभी इस महामारी को नियंत्रित किया जा सकता है।