मण्डल के नदी-नालों के कायाकल्प की बागडोर कमिश्नर के हाथ

चित्रकूट धाम मण्डल के 1306 गांवों से निकलने वाले नदी-नालों के अस्तित्व को बचाने की पहल कमिश्नर गौरव दयाल ने की है। इससे लाखों लोगों के साथ लाखों जीव-जन्तुओं का भी भला होगा। पर्यावरण के लिए भी ये जरूरी अभियान है, जो कमिश्नर के प्रयासों से फलीभूत होगा।

मण्डल के नदी-नालों के कायाकल्प की बागडोर कमिश्नर के हाथ


चित्रकूट धाम मंडल के नदी-नालों के कायाकल्प का अभियान परवान चढ़ चुका है। कार्ययोजना बनाई जा चुकी है। और ये पूरी योजना मंडल के कमिश्नर गौरव दयाल की कार्यक्षमता का नतीजा है। यहां के 160 गांवों से 12 नदियां गुजरती हैं तथा 1146 गांवों से 239 संकरी नदियां गुजरती हैं। अब इन नदियों/नालों की सफाई, सिल्ट सफाई इत्यादि कराने से इन नदियों और नालों की क्षमता तो बढ़ेगी ही साथ ही यहां के लाखों लोगों और लाखों जीव-जन्तुओं के लिये नया जीवन मिल जायेगा।

चित्रकूट धाम मंडल के कमिश्नर गौरव दयाल ने बताया कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र के 15025 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले 4 जनपदों बांदा, चित्रकूट, महोबा व हमीरपुर में लाखों लोगों की प्यास बुझाने के साथ-साथ लाखों एकड़ कृषि भूमि को सींचने वाली इन नदियों और नालों के अस्तित्व के संरक्षण की ये योजना है। इस योजना में नदी-नालों की डिसिल्टिंग तथा चैनल निर्माण कराया जायेगा, जिससे सिंचाई के साथ मवेशियों के लिए भी अविरल पेयजल उपलब्ध होगा। इन नदी-नालों के अस्तित्व को बचाने हेतु इनके दोनों किनारों पर निश्चित अंतराल पर मवेशियों के द्वारा न खाए जाने वाले वृक्षों का रोपण कराया जायेगा।

उन्होंने बताया कि इस अभियान से मनरेगा योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र के जाॅब कार्ड धारक श्रमिकों को भारी संख्या में रोजगार प्राप्त होने के साथ ही उन प्रवासी श्रमिकों को भी रोजगार मिल सकेगा, जो विगत दिनों लाॅकडाउन में अन्य राज्यों से वापस लौटे हैं।

मंडल में नदी एवं नालों का विवरण
बांदा में एक नदी है जिसकी लंबाई 25 किलोमीटर और इससे पांच गांव प्रभावित होते हैं। जिले में 43 नाले हैं जिनकी लंबाई 740 किलोमीटर है और इनकी सीमा में 349 गांव आते हैं। उसी तरह चित्रकूट जनपद में 2 नदियां हैं, इनकी लंबाई 181 किलोमीटर है और इनसे 61 गांव प्रभावित होते हैं तथा 1037 किलोमीटर कुल लम्बाई के 57 नालें हैं, जिनकी सीमा में 291 गांव आते हैं। इसी प्रकार महोबा में 191 किलोमीटर कुल लम्बाई की 5 नदियां हैं जिनसे 30 गांव प्रभावित होते हैं तथा 1013 किमी. लम्बे 63 नाले हैं, जिनकी सीमा में 285 गांव आते हैं। हमीरपुर जनपद में 281 किमी. लम्बाई की 4 नदियां हैं जो 64 गांवांें से गुजरती हैं तथा 714 किमी. के 76 नाले, जो 221 गांवों से गुजरते हैं।

बाँदा के नदी-नाले 
जनपद बांदा के जिन नदी नालों पर कार्य कराया जाना है उनमें बानगंगा, करेली नाला, खड्डी नाला, बड़ा नाला, धुबरी नाला, विसाहिल नाला, विसाहिल सहायक नाला, मदरास नाला, गहरा नाला, केन सहायक मकरानाला, गढ़वा नाला, मटियार नाला, तिकुनिया नाला, साहेबा नाला, उसुरा नाला, यमुना सहायक नाला, गुहरिया नाला, बिश्नोई नाला, गवाइन नाला, यमुना सहायक, करकरी नाला, चहीतारा नाला, कुरारा नाला, कलिंद नाला, बहेड़ी नाला, रिकाय नाला, कोयल नदी, रिकाय सहायक, सूखी नाला, सखा नाला, मौदहा नाला, गोडिया नाला, बघेला नाला, रेहडा नाला, उडन्ना नाला, कंजी नाला, करिया कछार नाला, कोडली नाला, कोयलन नाला, तूड़ी नाला। 

हमीरपुर के नदी-नाले
सीहू नाला, पीहा नाला, बिछुआ नाला, कडोरन नाला, रोडायन नाला, वाह नाला, चोहेड नाला, कहला नाला, झरही नाला, छेडीबसायक नाला, सोना नाला, कंधौली नाला, क्योंटान नाला, मिहुना नाला, शिवनी नाला, सूखेली नाला, चन्दौरा नाला, सूडा नाला, पथरिया नाला, भडभरिया नाला, भैरव नाला, दुनई नाला, पंडवाहार नाला, गंदा नाला, हल्का नाला, गंधा नाला, सरसेडा नाला, मडियन नाला, मुहार नाला, बड़ा नाला, दुर्गी नाला, फुलवइया नाला, पडुआ नाला, खरेहटा नाला, सेंधी नाला, ब्रह्मदेव नाला, सीहो नाला, सरसवाहा नाला, श्याम नाला, विछुआ, सोनहर नाला, खंडौल बाबा, चुरहा नाला, कर्क नाला, पउहा नाला, महिमरा नाला, संजाद नाला, नगरा नाला, चिनौती नाला, चकुंता नाला, स्थानीय नाला पहाड़ी, ज्योरहा नाला, ग्वाल बाबा नाला, खेरापति नाला, दुल्हा नाला, चमदड नाला, चन्दौरा नाला

चित्रकूट के नदी-नाले
गेडुआ नाला, सिमराडी नाला, पड़ुई नाला, ढोडहा नाला/नदी, पिपरावल नाला, भैंसहा नाला, बरूआ नाला, थोथी नाला, देवांगना घाटी/लोकल नाला, बरूई नाला, गोहिया नाला, सुखई नाला, कोढियार नाला, बाणगंगा नदी, बेलारी नाला, गुंता नदी, कछुआ नाला, जयवंती नाला, दशरथ नाला, खरसहा नाला, सतेठा नाला, दतिया नाला, सरभंगा नाला, कालीबराह नाला, बरार नाला, बाल्मीकि नदी, न्यूरिहा नाला, बरदहा नदी, गुंता नाला, ओहन नाला, गुलरिहा नाला, दुवैया नाला, जरेरा नाला, चकलघटा एवं किडनी नाला, किरहा नाला, कछार नाला, मोहिनी नाला, लोकल नाला, बरियार नाला, खखोली नाला, औंझर नाला, खरसहा नाला, हगना नाला, जैतुनी नाला, बरगवान नाला, गनीवा नाला, बुन्देला नाला, बहनोर नाला, कौवाखोह नाला, गंगुक नाला, बडगू नाला, दुर्गेही नाला

महोबा के नदी-नाले
भराट नाला, करन्धा नाला, बंशी बाबा नाला, गढई नाला, सूखा नाला, अर्जुन नाला, सहायक अर्जुन नाला, टोलासोयम नाला, बलचैर नाला, सीहू नाला, सोहजना नाला, सुखेली नाला, सिजौरा नाल, सालट नाला, चपरीया नाला, मीटलेन गंज नाला, काकुन नाला, बसौड नाला, हिरन नाला, सेलाहा नाला, बरौरी नाला, नटर्रा नाला, कमल खेड़ा नाला, रिसोनी नाला, कुश्मेरी नाला, बवयार नाला, उरई नाला, धरागिरी नाला, भरूआ नाला, सिमराव नाला, पड़सेरी नाला, कुकरैला नाला, दोरी नाला, चडचडिया नाला, बिलवार नाला, बाडौल नाला, बन्दलाहा नाला, श्रीनगर नाला, श्याम नाला, उरवारा नाला, पीपल नाला, सतलेड़ी नाला, दमौरा नाला, जम नाला, चपता नाला, सहायक मगरिया नाला, टीकामऊ नाला, बिच्छू नाला, अर्जुन नाला, सलारपुर नाला, कुरधाना नाला, धवल नाला, टुंगरी नाला, कर्पिया नाला, सहायक गोंची नाला, सुकड़ा नाला, कैली नाला, ऊनो नाला, खजुरिया नाला, कर्किया नाला, मगरिया नाला, गुंची नाला