उत्तर प्रदेश के खाली रुटों पर निजी बसें चलाने की तैयारी शुरु

राजधानी सहित पूरे प्रदेश में हजारों रुट खाली हैं। इन रुटों पर परमिट लेकर निजी बसें चलाने की तैयारी शुरु हो गई है...

उत्तर प्रदेश के खाली रुटों पर निजी बसें चलाने की तैयारी शुरु

लखनऊ

लखनऊ से कई मार्ग राष्ट्रीयकृत हैं, जिन पर सिर्फ परिवहन निगम की बसें चल सकती हैं। इसके अलावा ​जो मार्ग राष्ट्रीयकृत नहीं हैं उन पर अब निजी बसे चलाने की तैयारी शुरु हो गई है। ताकि हर रुट पर आम जनता को बसों की सुविधा मिल सके।

यह भी पढ़ें : देश में कोरोना के मामले 11 लाख के पार

परिवहन विभाग प्रदेश भर में खाली मार्गों का खाका तैयार कर रहा है। ये खाली मार्ग ऐसे हैं जहां आम लोगों को आने जाने की काई सुविधा नहीं है। प्रदेश में हजारों मार्ग ऐसे हैं जिनकी न्यूनतम दूरी 50 किलोमीटर और अधिकतम दूरी 300 किलोमीटर है। ऐसे खाली मार्गों का ब्योरा उप्र शासन को भेजकर परमिट देने की तैयारी है। इससे खाली मार्गों पर लोगों को यात्रा का साधन मिलेगा और बसे चलने से नए रोजगार का सृजन होगा।

यह भी पढ़ें : प्रशासनिक सेवा में आना मेरा लक्ष्य : फैजान

उप परिवहन आयुक्त अनिल मिश्रा ने सोमवार को बताया कि आरटीओ की ओर से सर्वे कराकर खाली मार्गों पर परमिट खोलने का प्रस्ताव दिया गया है। इन खाली मार्गों में लखनऊ के चार, सीतापुर और बलरामपुर के दो-दो रुट शामिल हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में खाली मार्गों का खाका तैयार किया जा रहा है। पूरे प्रदेश में हजारों रुट अभी खाली हैं। उन पर बसें चलाई जा सकती हैं। इन रुटों पर बसें चलने से लोगों को सस्ता यात्रा का साधन मिलेगा। इसके साथ ही नए रोजगार पैदा होंगे।

हिन्दुस्थान समाचार

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
1