उप्र डिफेंस कॉरिडोर : भारत डायनामिक्स मिसाइल व डेल्टा सेना की बंदूकों के लिए कारतूस बनाएगी

पिछले साल नवंबर महीने में डिफेंस कॉरिडोर में 400 करोड़ का निवेश करने वाली कंपनी भारत डायनामिक्स लिमिटेड की..

उप्र डिफेंस कॉरिडोर : भारत डायनामिक्स मिसाइल व डेल्टा सेना की बंदूकों के लिए कारतूस बनाएगी

पिछले साल नवंबर महीने में डिफेंस कॉरिडोर में 400 करोड़ का निवेश करने वाली कंपनी भारत डायनामिक्स लिमिटेड की प्रधानमंत्री ने आधारशिला रखी थी। इसके बाद डेल्टा डिफेंस नाम की कंपनी भी यहां अपना यूनिट स्थापित करने जा रही है। इन दो कंपनियों के बाद अब 25 और कंपनियों ने यहां निवेश के लिए कदम बढ़ाते हुए अपना प्रस्ताव उत्तर प्रदेश इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी को दिया है। इन प्रस्तावों के परीक्षण के बाद कंपनियों को जमीन आवंटन और एमओयू की प्रक्रिया शुरू होगी।

यह भी पढ़ें - जून में यूपी की जनता को बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का मिलेगा तोहफा, बुंदेलखंड क्षेत्र का होगा सर्वांगीण विकास

झांसी जनपद के गरौठा तहसील क्षेत्र में किसानों से अब तक लगभग 1071 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है। इसमें से 183 हेक्टेयर जमीन भारत डायनामिक्स लिमिटेड को और 15 हेक्टेयर डेल्टा डिफेंस कंपनी को दी गई है। भारत डायनामिक्स मिसाइल उत्पादन करेगी जबकि डेल्टा सेना की बंदूकों के लिए कारतूस बनाएगी। इन दोनों कंपनियों की यूनिट की स्थापना की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और अब कई अन्य कंपनियों ने भी झांसी के डिफेंस कॉरिडोर में निवेश में दिलचस्पी दिखाई है।

इन दो कंपनियों के बाद डिफेंस उत्पादों से जुड़ी 25 कंपनियों ने डिफेंस कॉरिडोर के झांसी नोड में निवेश की इच्छा जताई है। कंपनियों ने यूपीडा को प्रोजेक्ट रिपोर्ट सौंपी है। यहां हथियारों के अलावा सेना की वर्दी, जूते, तंबू, बैग व अन्य सामानों का भी उत्पादन किया जाएगा। वहीं जिन कंपनियों का प्रस्ताव मानकों के मुताबिक होगा, उनके साथ एमओयू किया जाएगा। उपायुक्त उद्योग मनीष चौधरी के मुताबिक कंपनियों ने जो प्रस्ताव दिया है, उनका परीक्षण किया जा रहा है और इसके बाद इन कंपनियों से एमओयू होगा।

यह भी पढ़ें - बुंदेलखंड एक्सप्रेस 16 मई से एलएचबी रैक से चलेगी, बढेगी स्पीड, जाने क्या है एलएचबी रैक

प्रदेश में डिफेंस कॉरिडोर छह जनपद झांसी, चित्रकूट, आगरा, अलीगढ़, कानपुर और लखनऊ में विकसित किया जा रहा है। छहों जनपदों में बनने वाले डिफेंस कॉरिडोर का 59 फीसदी हिस्सा झांसी जनपद में विकसित किया जाना है। इसके लिए गरौठा तहसील के गांव एरच, गेंदा कबूला, झबरा, नेकारा, कठर्री व लभेरा में 1,050 हेक्टेयर भूमि ली गई है। यह जमीन उत्तर प्रदेश डवलपमेंट अथॉरिटी (यूपीडा) ने किसानों से खरीदी है। इसमें से एरच की 183 एकड़ जमीन पर रक्षा मंत्रालय के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमण भारत डायनामिक्स लिमिटेड द्वारा 400 करोड़ रुपये की लागत से इकाई स्थापित की जा रही है।

ये खबर आपको अच्छी लगी हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा। या कोई सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स पर कमेंट भी कीजिये।

डिफेंस कॉरिडोर की अन्य लेटेस्ट अपडेट के लिए देखते रहिये इस वेबसाइट bundelkhandnews.com को।

यह भी पढ़ें - खत्म होने वाली है इंतजार की घड़ियां, चित्रकूट एयरपोर्ट का रनवे तैयार, अब उड़ान का इंतजार

What's Your Reaction?

like
2
dislike
0
love
2
funny
0
angry
0
sad
0
wow
2