इसी साल आप प्रयागराज से चित्रकूट झांसी हवाई यात्रा का उठा सकेंगे लुफ्त

इसी साल आप प्रयागराज से चित्रकूट झांसी हवाई यात्रा का उठा सकेंगे लुफ्त

प्रयागराज से झांसी एवं चित्रकूट के लिए 20 सीट वाले छोटे विमान का संचालन इसी वर्ष शुरू हो जाएगा। उड्डयन मंत्रालय ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।  झांसी और चित्रकूट में बनाई जा रही हवाई पट्टी का निर्माण पूरा होते ही 20 सीट वाले छोटे विमान का संचालन शुरू हो जाएगा।

इस संबंध में शनिवार को सूबे के उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने अफसरों के साथ चित्रकूट हवाई पट्टी का जायजा भी लिया। चित्रकूट में हवाई पट्टी का निर्माण कार्य की मॉनीटरिंगराज्य सरकार के साथ ही प्रयागराज एयरपोर्ट के निदेशक सुनील यादव भी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के विशेष सचिव सुरेंद्र सिंह भी कैबिनेट मंत्री के साथ चित्रकूट पहुंचे थे। उन्होने बैठक कर कार्यो की समीक्षा की।

बैठक के दौरान राइट्स लिमिटेड कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि हवाई पट्टी विस्तारीकरण में 25 सौ मीटर रनवे में से 16 50 मीटर पर मिट्टी का कार्य पूर्ण हो चुका है मिटटी कार्य के ऊपर जीएसबी लेयर का सोलह सौ मीटर में कार्य पूर्ण किया जा चुका है, जीएसबी लेयर के ऊपर डब्लू एमएम लेयर का 12 सौ मीटर कार्य पूर्ण हो गया है डब्ल्यूएम एम के ऊपर 604 मीटर विटुमिन का कार्य किया गया है। विटुमिन के ऊपर डीबीएम का 604 मीटर का कार्य पूर्ण है 55 00 मीटर बाउंड्री वॉल निर्माण कार्य में 11 सौ मीटर कार्य पूर्ण हो चुका है शेष कार्य प्रगति पर है। 17 सौ मीटर पेरीफेरल रोड का कार्य पूर्ण हो चुका है अंडरग्राउंड टैंक निर्मित हो चुका है फायर स्टेशन में फिनिशिंग तथा अन्य कार्य प्रगति पर है ऐप्रन एरिया का कार्य प्रगति पर है।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों ने बताया कि रनवे पर 75 मीटर मिट्टी का कार्य अभी तक पूर्ण किया गया है ऐप्रन का 90ः कार्य पूर्ण है शेष प्रगति पर है टर्मिनल बिल्डिंग का निर्माण हो चुका है 140 मीटर बाउंड्री वाल पुराने रनवे पर  कार्य पूर्ण किया जा चुका है। पार्किंग स्थल का चयन किया जाना है रेशा का कार्य प्रगति पर है आदि विभिन्न बिंदुओं की जानकारी उपलब्ध कराई गई।एयरपोर्ट अथॉरिटी के अफसरों ने एप्रन का 90 फीसदी कार्य पूर्ण होने की बात बताई।

प्रयागराज एयरपोर्ट के निदेशक सुनील यादव ने बताया कि इस वर्ष के अंत तक प्रयागराज से चित्रकूट और झांसी के बीच 20 सीट वाले विमान चलाने की योजना है। उधर उड्डयन मंत्री ने बताया कि चित्रकूट का एतिहासिक महत्व है। प्रयागराज के अलावा लखनऊ एवं प्रदेश के अन्य मंडल मुख्यालयों को जोड़ने के लिए भी 20 सीट वाले विमान चलाने की योजना है।

हवाई पट्टी निरीक्षण के दौरान  सांसद बांदा, चित्रकूट  आरके सिंह पटेल, भारतीय जनता पार्टी  जिला अध्यक्ष चंद्र प्रकाश खरे, पुलिस अधीक्षक  अंकित मित्तल, मुख्य विकास अधिकारी डॉक्टर महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जी पी सिंह, उप जिलाधिकारी कर्वी अश्विनी कुमार पांडे, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर  रजनीश कुमार यादव सहित संबंधित अधिकारी व कारदायी संस्थाओं के अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें :  बुन्देलखण्ड के इन 8 रेलवे स्टेशनों पर यात्री जल्दी ही स्वचालित सीढ़ी से गुजरेंगे