पुष्प सज्जा : रंग - बिरंगे फूलो का गुलदस्ता, महकती सुन्दरता

पुष्प सज्जा एक ऐसी कला है जो न केवल घर की सुन्दरता बढाती है, अपितु एक खुशनुमा,जीवंत और सुगन्धित वातावरण भी तैयार करती है..

पुष्प सज्जा : रंग - बिरंगे फूलो का गुलदस्ता, महकती सुन्दरता

पुष्प सज्जा एक ऐसी कला है जो न केवल घर की सुन्दरता बढाती है, अपितु एक खुशनुमा,जीवंत और सुगन्धित वातावरण भी तैयार करती है। रंग-बिरंगे फूलो का गुलदस्ता किसी भी उदासीन सी जगह को प्रफुल्लित कर के सकरात्मक ऊर्जा पैदा करता है।

इन्ही फूलो की भीनी-भीनी खुशबू आपके मूड को मिनटो मे अच्छा कर के आपको ताज़गी और स्फूर्ती से भर देती है.इसी वजह से पुष्प  सज्जा करते हुए कुछ बातो का खास ख्याल रखा जाता है ताकि फूलो की सुन्दरता निखर कर सामने आये।

बडे और गोलाकार के फूलो को नीचे कि तरफ लगाये.लम्बे,पतले,फूलो को सबसे उपर और मध्यमाकार के फूलो को बीच मे लगाना चाहिये।

कंटेनर और फूलो के रंग मे तालमेल भी ज़रूरी है.सामान्यतः हल्के रंग के फूल उपर की तरफ अच्छे लगते है जबकि गहरे रंग के फूल नीचले हिस्से को मज़बूत और संतुलित बनाते है।

हल्के रंग के फूल कृत्रिम रोशनी के बजाय प्राकृतिक रोशनी मे लुभावने लगते है।

फूलो की लम्बाई कंटेनर की लम्बाई से डेढ गुणा ज्यादा रखने की कोशिश करे।

साईड टेबल या डाईनिंग टेबल के लिये मिनिऐचर अरेंजमेंट बनाये.छोटे आकार के फूलो को कांच के bowl,shell, ash tray  या छोटी आकर्षक बोतल मे सजा कर मिनिऐचर अरेंजमेंट बनाये.इस अरेंजमेंट का  साईज़ किसी भी दिशा मे 5 इंच से ज़्यादा न रखे।

फूलो को आप गोलाकार मे भी सजा सकती है।यह बनाने मे सबसे आसान होता है क्योकि अधिकतर फूलो का आकार भी गोल होता है ।

त्रिकोणाकार मे व्यवस्थित फूल व्यक्तिगत अवसर पर इस्तेमाल किये जाते है।इस आकार मे गुलदस्ते बना कर भी भेंट मे दिये जाते है.इसके लिये पहले लम्बाई और चौडाई निर्धारित करे और फिर focal point  या केन्द्र मे फूल सजाये।

पंखे के आकार मे की गयी सजावट डाईनिंग टेबल के लिये सर्वोत्तम होती है.इस प्रकार की सज्जा समतल होती है जोकि टेबल के दूसरी ओर बैठे लोगो से बात करने मे दखल नही देती है।

“S”  शेप मे फूलो को सजाने के लिये लम्बी,पतली और लचीली या घुमावदार टहनी और फूलो क प्रयोग करे.पहले ऐसे फूलो से  “S”शेप बनाये और फिर बीच मे छोटे फूल सजाये।फूलो के अलावा रिब्बन, नेट, बाज़ार मे उपलब्ध फोलियेज (foliage)  आदि का भी प्रयोग किया जा सकता है।

पुष्प विज्ञान एवं भू सौंदर्य विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ . कृष्ण सिंह तोमर ने बताया कि विगत 25 दिसम्बर को उद्यान महाविद्यालय द्वारा  कलात्मक पुष्प सज्जा प्रतियोगिता आयोजित की गई थी जिसमें  छात्रों ने प्रतिभाग किया।उनहोंने बताया कि पुष्प विज्ञान एवं भू सौंदर्य विभाग कलात्मक पुष्प सज्जा पर प्रशिक्षण भी आयोजित करने जा रहा है जिसमें इच्छुक  नवयुवक एवं महिलाएं प्रशिक्षण प्राप्त कर सकती है।

यह भी पढ़ें - कृषि विश्वविद्यालय बांदा का सप्तम दीक्षान्त समारोह 8 जनवरी को प्रस्तावित

यह भी पढ़ें - Bhuragarh Fort Banda : बाँदा के ऐतिहासिक भूरागढ़ किला का पूरा इतिहास, जानिये यहाँ

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0