website statistics
चीफ जस्टिस ने अटार्नी जनरल से बातचीत की

सुप"/>

सुप्रीम कोर्ट के चार जजो ने न्यायपालिका की व्यवस्था पर उठाये सवाल

  • चीफ जस्टिस ने अटार्नी जनरल से बातचीत की

सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने कहा कि अगर हमने अपनी बाते देश के सामने नही रखी तो लोकतंत्र खत्म हो जायेगा। यह असाधारण स्थिति देश के इतिहास में पहली बार देखी गई जब सर्वोच्य न्यायालय के जजों के मीडिया के सामने आकर यह बात कही।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गमोई, जस्टिस मदन लोकर, जस्टिस कुरियन जोजेफ ने नई दिल्ली में मीडिया के सामने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को प्रशासन ठीक तरीके से काम नही कर रहा है। अगर ऐसा चलता रहा तो लोकतांत्रिक परिस्थिति ठीक नही रहेगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस बारे में हमने चीफ से बात की लेकिन उन्होंने हमारी बातों को नही सुना। जजों ने कहा हम नही चाहते कि हम पर कोई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि हम नही चाहते कि बीस साल बाद हम पर कोई आरोप लगाये।

एक साथ चार जजों द्वारा सुप्रीम कोर्ट प्रशासन पर अनियमिताओं करने का आरोप लगाने पर खलबली सी मच गई है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने इस मसले पर अटार्नी जनरल से बातचीत शुरू की है। वही प्रधानमंत्री ने कानून राज्य मंत्री को तलब किया है।



चर्चित खबरें