website statistics
देश के सबसे बडे़ घोटाले टू जी स्पेक्ट्रम में कोर्ट ने "/>

देश के सबसे बडे़ 2 जी घोटाले से सभी आरोपी बरी

देश के सबसे बडे़ घोटाले टू जी स्पेक्ट्रम में कोर्ट ने आज सभी आरोपियों को बरी कर दिया है कोर्ट ने अपने फैसले में स्पष्ट करते हुए कहा है कि सरकारी वकील यह साबित करने में नाकाम रहे है कि दोनों पक्षों को बीच पैसों का लेन-देन हुआ। यह घोटाला 1 लाख 76 हजार करोड़ का घोटाला बताया गया था।

जज ओपी सैनी ने जब यह फैसला सुनाया तो कोर्ट में तालियों की गड़गडाहट सुनाई देने लगी। उस समय कोर्ट में मुख्य आरोपी कनमाझी और ए राजा के अलावा उनके समर्थक भी मौजूद रहे। टू जी स्पेक्ट्रम घोटाले में सुनावाई छः साल पहले 2011 में शुरू हुई थी। जब अदालत ने 17 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किये थे। इस मामले में एस्सार समूह में प्रमोटर रविकांत रूइया और अंशमान रूइया, टेलीकाॅम की प्रमोटर किरन खेतान, उनके पति आई पी खेतान और एस्सार समूह के निदेशकर निकास सर्राफ भी आरोपी है।

सीबाीआई ने राजा और कनमोझी के अलावा पूर्व दूर संचार सचिव सिद्धार्थ बेहुरा, राजा के पूर्व सचिव आर.के चंदोलिय, और विनोद गोपन का यूनीटेक लिमिटेड एमडी संजय चन्द्रा और रियालंस अनिल धीरू भाई और अंबानी समूह के तीन शीर्ष कार्यकारी अधिकारी गौतम दोषी, सुरेन्द्र पिपारा व हरि नायर आरोपी थे। काँग्रेस के शासन काल में जब यह मामला प्रकाश में आया था तब मुख्य विपक्षी दलो ने संसद नही चलने दी थी।



चर्चित खबरें