तमाम वादों और विवादों के बीच सूबे के मुख्यमंत्री योगी"/>

5 अरब, हवाई यात्रा और मेट्रो रेल के साथ बहुत कुछ मिलेगा इलाहाबाद को

तमाम वादों और विवादों के बीच सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज संगम नगरी इलाहाबाद पहुंचे। उन्होंने आज कई सौ करोड़ लागत की योजनाओं का शिलान्यास किया । एकदिवसीय दौरे पर इलाहाबाद आये मुख्यमंत्री योगी ने परेड ग्राउंड स्थित विशाल कार्यक्रम में अर्द्धकुंभ 2019 के लिए 510 करोड़ रूपये दिए और सरकार की सबसे महत्वकांक्षी किसान सफल ऋण मोचन योजना के तहत जिले के कई किसानों को ऋण माफी का प्रमाण पत्र प्रदान किया।

आज मुख्यमंत्री योगी ने सरकार के पिटारे से अर्धकुंभ की तैयारियों के नाम पर 510 करोड रूपये की सौगात इलाहबादवासियो को प्रदान की। इस 510 करोड़ रूपये से संगम नगरी की सड़क, बिजली और पानी व्यवस्था को दुरूस्त किया जाएगा। इसके अलावा प्रदेश के प्रमुख तीर्थ स्थलों को जोड़ने वाली सड़कों को चार लेन बनाने की भी घोषणा की गई है। जिसमें संगम नगरी इलाहाबाद का नाम भी शामिल है।इसके अलावा गंगा, यमुना के पानी की क्वालिटी जांच के लिए वाराणसी, कानपुर के अलावा इलाहाबाद में भी प्लांट तैयार किया जाएगा। नदियों की सफाई और स्वच्छता अभियान के नाम पर भी बजट में विशेष महत्व दिया गया है। जिसमें इलाहाबाद को विशेष दर्जा दिया गया है।

सूबे के स्वास्थ्य मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि सूबे की पूर्ववर्ती सरकारों ने किसानों को बदहाल कर दिया। जिससे किसान कर्ज में दबते चले गए। लेकिन अब हमारी सरकार ने किसानों का ऋण माफ कर, उनकी आमदनी बढ़ाने का प्रयास शुरू कर दिया है। सरकार की योजनाओ से लोगों को फायदा हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्री अपने बयान में यह कहना नहीं भूले कि ऋण माफी के लिए हमारी सरकार ने केन्द्र सरकार से कोई पैसा नहीं लिया।

आज के कार्यक्रम में जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार लखनऊ के बाद अब इलाहाबाद में भी जल्द से जल्द मेट्रो की शुरुआत हो इस पर गहन विचार विमर्श कर रही है । उन्होंने कहा कि प्रयागवासियो से मेरा निवेदन है कि आप सिर्फ स्वच्छता के मिशन में हमारा सहयोग करिये और सरकार आपको कली समस्या नही होने देगी । उन्होंने चंद्रशेखर आजाद पार्क में लग रहे फीस को जनता से न लेने को कहा, अब सरकार भरेगी ।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि योगी सरकार में भ्रष्टाचार मुक्त कार्य हो रहा है। योगी सरकार में विकास का नया युग शुरू हो चुका है। पूरी दुनिया को संगम नगरी से जोड़ा जाएगा। इस बार प्रयाग का अर्ध कुम्भ सुविधाओं के साथ अद्भुत होगा।

सूबे के स्वास्थ्य मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि सूबे की पूर्ववर्ती सरकारों ने किसानों को बदहाल कर दिया। जिससे किसान कर्ज में दबते चले गए। लेकिन अब हमारी सरकार ने किसानों का ऋण माफ कर, उनकी आमदनी बढ़ाने का प्रयास शुरू कर दिया है। सरकार की योजनाओ से लोगों को फायदा हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्री अपने बयान में यह कहना नहीं भूले कि ऋण माफी के लिए हमारी सरकार ने केन्द्र सरकार से कोई पैसा नहीं लिया।

ये हैं वो 34 परियोजनाएं

इन परियोजनाओं में बक्शी बांध उपकेन्द्र से दारागंज तक इंटरलॉकिंग लाइन का निर्माण, तेलियरगंज से मिंटोपार्क विद्युत उपकेन्द्र तक भूमिगत लाइन, रीवा रोड के दोनों बिजली उपकेन्द्रों तक डबल सर्किट लाइन, पानी की टंकी से लूकरगंज तक रेलवे ओवर ब्रिज, एयरपोर्ट के पास बेगम बाजार से भगवतपुर मार्ग तक आरओबी, एमएनएनआईटी के पास गोविंदपुर मार्ग पर आरओबी, रामबाग रेलवे स्टेशन के पास लाउदर रोड पर रेलवे ओवर ब्रिज, नागवासुकी से दशाश्वमेघ घाट तक सड़क निर्माण व चौड़ीकरण, बक्शी बांध रोड का चौड़ीकरण, इलाहाबाद से हंडिया तक चार लेन की सड़क का निर्माण, सोरांव- फूलपुर-हंडिया मार्ग का चौड़ीकरण ।

अर्धकुंभ 2019 से पहले एयरपोर्ट से इलाहाबाद दूसरे प्रमुख शहरों से जुड़ेगा। विश्व के लिए अर्धकुंभ 2019 अद्वितीय होगा। इस मौके पर सीएम ने अर्धकुभ की 34 परियोजनाओं का शिलान्यास किया और 11585 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र सौंपा।

इस दौरान सीएम योगी और डिप्टी सीएम केशव के अलावा भी 5 मंत्री मौजूद रहे। जिनमे यूपी के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, स्टाम्प एवं निबन्धन मंत्री नन्द गोपाल नन्दी शामिल रहे।



चर्चित खबरें