< रोडवेज बसों में इस डिवाइस के लगते ही झपकी लेने पर बजेगा सायरन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News  लखनऊ,

उत्तर प्रदेश परिवहन न"/>

रोडवेज बसों में इस डिवाइस के लगते ही झपकी लेने पर बजेगा सायरन

 लखनऊ,

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने रोडवेज बस चालकों की झपकी से होने वाले हादसों से बचने के लिए एंटी स्लीप डिवाइस की मदद लेने की योजना तैयार की है। यह डिवाइस इजराइल द्वारा विकसित है। इस तकनीक से यदि बस का चालक झपकी लेगा तो डिवाइस में लगा सायरन बज उठेगा और परिवहन निगम के अधिकारियों को अलर्ट कर देगा। इससे परिचालक और चालक सर्तक हो जाएंगे और इस प्रकार के हादसो से बचने में मदद मिल सकेगी।

लखनऊ में इस योजना का ट्रायल किया जा चुका है। जो सफल साबित होने के बाद अब इसे नोएडा और ग्रेटर नोएडा डिपो की रोडवेज बसों में लगाया जाएगा।पुणे में स्थित कंपनी ने इजराइल की तकनीक पर इस डिवाइस को तैयार किया है। रोडवेज की अधिकांश बसों के हादसे रात के समय होने से परिवहन निगम यात्रियों को सुरक्षित और आरामदायक सफर देने की योजना पर पिछले काफी समय से काम कर रहा है। इसलिए परिवहन निगम ने पुणे की कंपनी से करार किया है। कंपनी की ओर से कुछ डिवाइस को लखनऊ मुख्यालय भेजा है। जिसके बाद अधिकारियों ने इस डिवाइस को लंबी दूरी पर चलने वाली रोडवेज बसों में ट्रायल के तौर पर लगाया।

लखनऊ में डिवाइस का सफल ट्रायल होने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली और इस डिवाइस को हर डिपो से लंबी दूरी पर संचालित होने वाली बसों में लगाने का निर्णय लिया है। हालांकि इन बसों को फिलहाल जनरथ, वोल्वो और वातानूकिलत बसों में ही लगाया जाएगा। इसके बाद अन्य बसों में इसको लगाने का काम किया जाएगा।

परिवहन निगम के अधिकारियों ने बताया कि एंटी स्लीप डिवाइस को रोडवेज बस के स्टयरिंग के पास लगाई जाएगी। बस चालक का चेहरा देखने के बाद यह डिवाइस एक्टिव होगा। सेंसर से चालक का चेहरा इस डिवाइस के माध्यम से पढ़ा जाएगा। असमान्य परिस्थितियों में पर डिवाइस द्वारा लाल रंग की तेज रोशनी चालक के चेहरे पर जाएगी इसके बाद डिवाइस से बीप की आवाज आने लगेगी।

ग्रेटर नोएडा डिपो के एआरएम लव कुमार ने बताया कि लखनऊ में इस डिवाइस का सफल ट्रायल हुआ है। इसके बाद इसे रोडवेज बसों में लगाने का काम जल्द ही शुरू किया जाएगा। इस डिवाइस की मदद से काफी हद तक रोडवेज बसों के हादसे कम किए जा सकेंगे।

अन्य खबर

चर्चित खबरें