< हिरासत में शिवकुमार, आजाद और देवड़ा, होटल के पास धारा-144 लागू Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News कर्नाटक में कांग्रेस-जदएस गठबंधन की सरकार बचाने के लिए दोनों ही "/>

हिरासत में शिवकुमार, आजाद और देवड़ा, होटल के पास धारा-144 लागू

कर्नाटक में कांग्रेस-जदएस गठबंधन की सरकार बचाने के लिए दोनों ही दलों पूरी ताकत झोंक दी है। राज्‍य के मंत्री डीके शिवकुमार और जेडीएस के विधायक शिवलिंगे गौड़ा बागी विधायकों को मनाने मुंबई के होटल पहुंचे जहां पुलिस ने उन्‍हें रोक दिया। बागी विधायकों ने पुलिस को पत्र लिखकर खुद को खतरा बताया है।

इस बीच, मुंबई के होटल ने आपात स्थितियों का हवाला देते हुए डीके शिवकुमार की बुकिंग रद कर दी है। मुंबई पुलिस ने होटल के समीप धारा-144 लगा दी है। निषेधाज्ञा लागू होने के बावजूद होटल के बाहर बैठे डीके शिवकुमार और मिलिंद देवड़ा (को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इनको कलीना यूनिवर्सिटी के विश्राम गृह ले जाया गया है। 

धरने पर बैठे येदियुरप्‍पा :  इस बीच, भाजपा नेता एवं राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा ने विधानसभा के सामने धरना दिया। वह दोपहर बाद विधानसभा अध्‍यक्ष से भी मिले। उन्‍होंने कहा कि डीके शिवकुमार द्वारा विधायकों का इस्‍तीफों को फाड़ना अक्षम्‍य है। विधानसभा का सत्र 12 जुलाई से शुरू हो रहा है।

यह अवैध सत्र है क्‍योंकि गठबंधन सरकार अपना बहुमत खो चुकी है। येदियुरप्‍पा गवर्नर से भी मुलाकात करने वाले हैं। मंगलवार को कांग्रेस के निलंबित विधायक आर. रोशन बेग ने भी इस्तीफा दे दिया। इस तरह बागी कांग्रेस विधायकों की संख्या 11 और गठबंधन के कुल असंतुष्ट विधायकों की संख्या 14 हो गई है।

बागी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, सुनवाई कल : दूसरी ओर बागी विधायकों ने विधानसभा अध्‍यक्ष पर इस्‍तीफे स्‍वीकार करने में देरी का आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। विधायकों ने विधानसभा अध्‍यक्ष पर सांविधानिक कर्तव्‍यों का पालन नहीं करने का आरोप लगाया है।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने पद से इस्‍तीफा दे चुके इन विधायकों की याचिका पर संज्ञान लिया है।सुप्रीम कोर्ट कल मामले की सुनवाई करेगा। बता दें कि कल विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार ने कहा था कि 13 विधायकों में से आठ विधायकों के इस्तीफे निर्धारित प्रारूप के मुताबिक नहीं हैं। 

डीके शिवकुमार को रोका, धारा-144 लगाई  : कांग्रेस नेता एवं राज्‍य के मंत्री डीके शिवकुमार (DK Shivakumar) जब मुंबई में बागी विधायकों से मिलने पहुंचे तो पुलिस उन्‍हें होटल के गेट से दूर लेकर गई। उन्‍होंने कहा कि राजनीति में कोई दोस्त और कोई दुश्मन नहीं हैं। कोई भी कभी बदल सकता है। मैं उनसे (बागी विधायकों) से संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूं।

मैंने यहां एक कमरा बुक किया है। मेरे मित्र यहां रुके हुए हैं। एक छोटी सी समस्या है और हमें इस पर बातचीत करनी है। हम तुरंत अलग नहीं हो सकते हैं। मैं अपने नाराज साथियों से मिले बिना नहीं जाऊंगा। वहीं मुंबई पुलिस ने कहा है कि कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार को बस उस होटल के अंदर नहीं जाने दिया जाएगा जहां कांग्रेस-जेडीएस के 10 बागी विधायक ठहरे हैं। उनको होटल के गेट से पहले नहीं रोका जाएगा। पुलिस की ओर से पवई इलाके में होटल के आस पास धारा-144 लगा दी गई है। 

इस्‍तीफों पर फंसा पेच : विधासभा अध्यक्ष ने बताया कि रोशन बेग का इस्तीफा मंगलवार को ही दाखिल किया गया है इसलिए उन्होंने अभी उसकी स्क्रूटनी नहीं की है। उन्‍होंने कहा कि जिन पांच विधायकों के इस्तीफे निर्धारित प्रारूप के मुताबिक हैं उनमें से तीन को उन्होंने 12 जुलाई को निजी सुनवाई के लिए तलब किया है।

13 और 14 जुलाई को अवकाश है इसलिए बाकी दो विधायकों को उन्होंने निजी सुनवाई के लिए 15 जुलाई को बुलाया है। उन्‍होंने कहा कि वह संबंधित नियम देखेंगे और घटनाक्रमों पर वरिष्ठों से विचार-विमर्श करेंगे, उसके बाद ही फैसला करेंगे कि इस्तीफे स्वीकार किए जा सकते हैं या अलग तरह की कार्रवाई की जरूरत है। बता दें कि विधानसभा का सत्र 12 जुलाई से शुरू हो रहा है।

 

 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें