< बुलन्दशहर में गोकशी को लेकर हिंसा, इंस्पेक्टर सहित दो की मौत Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में सोमवार को कथित तौर पर गोकशी और"/>

बुलन्दशहर में गोकशी को लेकर हिंसा, इंस्पेक्टर सहित दो की मौत

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में सोमवार को कथित तौर पर गोकशी और अवैध बूचड़खाने को लेकर वाद विवाद ने हिंसक रुप अपना लिया। बवाल में गुस्साई भीड़ ने स्याना थाने के इंस्पेक्टर की पत्थर या किसी भारी वस्तु मार कर हत्या कर दी। वहीं गोली लगने से एक युवक की मौत हुई है। इस घटना में पांच पुलिस कर्मी तथा करीब आधा दर्जन आम लोगो को भी मामूली चोटें आई है।

हिंसक भीड़ ने जमकर तांडव किया और आगजनी की। इस दौरान कई गाड़ियो को भी नुकसान पहुंचाया गया है तथा तीन कारें जलकर राख हो गयी। बताया जाता है कि गोकशी की खबर से गुस्साई भीड़ ने इस दौरान पुलिस पर पथराव करते हुए पुलिस के कई वाहनों और चिंगरावठी पुलिस चैकी में आग लगा दी। मामले की सूचना मिलने के बाद कई थानों की पुलिस और आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए और हालात को काबू में करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

मेरठ मंडल आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने इस मामले में स्याना के कोतवाल सुबोध कुमार की मौत की पुष्टि की है।वहीं राजधानी लखनऊ में सोमवार शाम एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने पत्रकारों को बताया कि बुलंदशहर में हुई हिंसा के दौरान पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत इलाज के दौरान हुई, संभवतः उन्हें कोई पत्थर या भारी वस्तु लगी थी।

कथित गौकशी की घटना के बाद पथराव में एक थाना इंचार्ज और एक अन्य की मौत के मामले की जांच एडीजी इंटलीजेंस करेंगे और 48 घंटे के अंदर अपनी गोपनीय रिपोर्ट सौंपेगें। उन्होंने बताया कि पुलिस महानिरीक्षक मेरठ की अध्यक्षता में एसआईटी का गठन किया गया जिसमें तीन से चार अधिकारी शामिल होंगे जो पूरी घटना की गहनता से जांच कर अपनी रिपोर्ट शासन को सौपेंगे।

एडीजी आनंद ने बताया कि जिलाधिकारी बुलंदशहर ने इस घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिये है। अभी इस मामले में एक मामला गौकशी का दर्ज किया गया है जिसमें सात लोगो के नाम दर्ज है लेकिन अभी सुरक्षा की दृष्टि से इन नामजद लोगो के नाम नही बताये जा सकते है। पथराव और गोलीबारी के दौरान सुमित नाम के एक युवक की भी मौत इलाज के दौरान मेरठ के अस्पताल में हो गयी है।

अभी यह नही साफ हो पाया है कि इसकी मौत किसकी गोली से हुई है। एडीजी के मुताबिक कथित गौकशी की घटना के बाद एफआईआर लिख ली गयी थी लेकिन भीड़ ने सड़क पर जाम लगा दिया था उसी जाम को हटाने के दौरान भीड़ उग्र हो गयी और दोपहर 12 से डेढ़ बजे के बीच पथराव और हिंसा हुई। उन्होंने कहा कि जिले में पांच कंपनी आरएएफ तथा छह कंपनी पीएसी पहले से ही तैनात थी और पुलिस बल भेजा जा रहा है। 

वहीं दूसरी ओर बुलन्दशहर आ रही खबरों के मुमाबिक थाना कोतवाली क्षेत्र के गांव महाव के जंगल में रविवार की रात अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर करीब 25-30 गोवंश काट डाले। यह सूचना मिलने पर लोगों में आक्रोश फैल गया। गुस्साए लोग घटनास्थल पर पहुंचे और कथित तौर पर काटे गए गोवंश के गोवंश अवशेषों को ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर चिंगरावठी पुलिस चैकी पर पहुंचे।

गुस्साई भीड़ ने बुलंदशहर-गढ़ स्टेट हाईवे पर ट्रैक्टर ट्रॉली लगाकर रास्ता जाम कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी। सूचना मिलने पर एसडीएम अविनाश कुमार मौर्य और सीओ एसपी शर्मा पहुंचे। इसके बाद लोगों का गुस्सा भड़क गया और उन्होंने पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। बेकाबू भीड़ ने पुलिस के कई वाहन फूंक दिए।

साथ ही चिंगरावठी पुलिस चैकी में आग लगा दी। बताया जाता है कि इस बीच पुलिस फायरिंग के दौरान चिंगरावठी निवासी सुमित को गोली लग गई। जिसको अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई। इसके बाद भीड़ की पिटाई के कारण स्याना कोतवाल सुबोध कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां कुछ देर बाद उनकी मृत्यु हो गई।

बवाल की जानकारी मिलने पर स्याना सहित अहार, बुगरासी, बीबीनगर सहित आसपास के कई थानों का पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। मौके पर एसपी और आला अधिकारी भारी पुलिस फोर्स के साथ मौजूद हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए मेरठ और आसपास के जनपदों की पुलिस बुलन्दशहर भेजी जा रही हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें