< चोरी के बाद ब्लॉक हुआ डेबिट/क्रेडिट कार्ड भी लगा रहा है लोगों को लाखों का चूना Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News अगर आपका डेबिट/क्रेडिट कार्ड चोरी हो गया है और आपने उसे ब्लाक भी "/>

चोरी के बाद ब्लॉक हुआ डेबिट/क्रेडिट कार्ड भी लगा रहा है लोगों को लाखों का चूना

अगर आपका डेबिट/क्रेडिट कार्ड चोरी हो गया है और आपने उसे ब्लाक भी करवा दिया है तब भी आपको सावधान रहने की जरूरत है। क्या आप जानते हैं कि आपका यह ब्लॉक कार्ड किसी को चूना लगाने के काम में लाया जा रहा है। चोरी के इन डेबिट और क्रेडिट कार्ड की दिल्ली-एनसीआर के चोर बाजारों में खूब बोली लग रही है। लोग 100 से 150 रुपये तक प्रति कार्ड चुकाने को तैयार हैं। इसकी वजह जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

दरअसल, इन कार्डों के जरिए एटीएम में आने वाले लोगों को ठग अपना शिकार बना रहे हैं। ऐसे ही गिरोह के एक सदस्य को दिल्ली पुलिस ने बाबा हरिदास नगर से गिरफ्तार किया है। यह व्यक्ति कबाड़ी और चोरों से 100 से 150 रुपये में कार्ड खरीदता था। फिर एटीएम में आए लोगों की मदद के नाम पर उनका पिन पता चलने के बाद उनके असली कार्ड को इस कार्ड से बदल लेता था। मिली जानकारी के अनुसार बेकार डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में भी बैंक के हिसाब से कीमत तय होती थी। एसबीआई और पीएनबी के बैंकों के कार्ड की कीमत भी अधिक होती थी और वह हाथों हाथ बिक जाते थे।

द्वारका जिले के डीसीपी एंटो अल्फोंस के अनुसार गिरफ्तार आरोपी बलबीर सिंह के पास से 22 कार्ड मिले हैं और धोखे से निकाले गए 35,500 रुपये भी बरामद किए गए हैं। पुलिस को 11 अगस्त में एक महिला ने शिकायत दी थी कि ऐक्सिस बैंक के एटीएम में एक व्यक्ति मौजूद था।

उसने उनका पिन नंबर भी देख लिया। जब महिला ने उसे बाहर जाने को कहा तो भी वह नहीं गया। जब महिला घर आई तो एसएमएस से पता चला कि उनके एटीएम से 40,000 रुपये निकाल लिए गए हैं। इसके बाद एक मेसेज और आया और उसके अकाउंट से कुल 1,15,000 रुपये निकाले गए। इसके बाद थाना बाबा हरिदास नगर की पुलिस ने छानबीन शुरु की। इस थाने में ऐसी कई शिकायतें दर्ज हो चुकी थीं। एटीएम के सिक्यॉरिटी गार्ड से पूछताछ की गई। 4 अक्टूबर को गार्ड पवन ने पुलिस को सूचना दी कि कुछ संदिग्ध लोग एटीएम के आसपास घूम रहे हैं।

पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और इनसे पूछताछ शुरु की। इसी पूछताछ में बलबीर सिंह (56) ने कई राज उगल दिए। उसने बताया कि वह अपने हिसार के अपने करीबी रिश्तेदार राकेश के साथ मिलकर यह फ्रॉड करता है। राकेश लोगों की मदद करने के नाम पर एटीएम में जाता है और जैसे ही उसे पिन नंबर पता चलता है वह लोगों के एटीएम बदल लेता है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें