< अखिलेश के मास्टरस्ट्रोक ने उप्र के उपचुनावों में रोका भाजपा का विजय रथ Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बीएसपी से गठबंधन कर सत्तारूढ  भाजपा को बैकफुट पर ला दि"/>

अखिलेश के मास्टरस्ट्रोक ने उप्र के उपचुनावों में रोका भाजपा का विजय रथ

बीएसपी से गठबंधन कर सत्तारूढ  भाजपा को बैकफुट पर ला दिया

मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव ने पिछली कटुता को भुलाकर बीएसपी के साथ ऐसा गठबंधन कर लिया जिसके बारे में किसी ने सोचा नहीं था। इस गठबंधन ने सत्‍तारूढ :भाजपा को बैकफुट पर ला दिया। अखिलेश के इस मास्‍टरस्‍ट्रोक ने यूपी में सियासत का रुख बदल दिया। दलित और ओबीसी के इस गठजोड़ ने हाल ही में हुए उपचुनावों में बीजेपी को हार का मुंह देखने के लिए मजबूर कर दिया। बीजेपी को मात देने के लिए इस रणनीतिक गठजोड़ को बनाने का पूरा श्रेय एसपी अध्‍यक्ष अखिलेश यादव को जाता है। अखिलेश ने सबसे पहले सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर में बीजेपी को मात देने के लिए प्रवीण निषाद पर दांव लगाया, जहां करीब तीन लाख निषाद वोटर हैं। अखिलेश ने इसके बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती के साथ अनौपचारिक बातचीत की शुरुआत की। अखिलेश अपनी बुआ मायावती को मनाने में सफल रहे और इस गठबंधन ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को करारी शिकस्‍त दी।

बीएसपी और एसपी की इस सफलता के बाद अन्‍य विपक्षी दल जैसे कांग्रेस और आरएलडी भी उनके साथ आ गए। अखिलेश ने एक बार फिर से राजनीतिक सूझबूझ का परिचय देते हुए जाट बहुल पश्चिमी यूपी में आरएलडी के साथ गठजोड़ करते हुए कैराना और नूरपुर में हुए उपचुनाव में बीजेपी को मात दी। यही नहीं अपनी पार्टी की पूर्व एमपी तबस्‍सुम हसन को आरएलडी से टिकट दिलाया। अखिलेश सभी विपक्षी दलों को एक मंच पर लाने में कामयाब रहे क्‍योंकि बीजेपी के साथ मुकाबला अकेले संभव नहीं था।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें