website statistics
केन नदी के किनारे सच्चे प्यार के साझा शहादत का अद्भुत किस्सा संज"/>

यहां लगता है युगलप्रेमियों का मेला

केन नदी के किनारे सच्चे प्यार के साझा शहादत का अद्भुत किस्सा संजोए नटबली महराज के मन्दिर में कल संक्रन्ति को प्रेमी जोड़ो का जमघर लगेगां। जो यहां पूजा अर्चना कर दो प्यार करने वाले प्रमियों की याद मे खो जाते है।

शहर की समी से सरे भूरागढ़ का दुर्ग जहां इतिहास के पन्नों में 1857 के गदर की तमाम वीरता से जुड़ी कहानियां का गवाह बना है। वही अपनी प्रेमिका को पाने की चाहत में अपने प्रेमिका को पाने की चाहत में अपने प्राणों की बलि देने वाले नटबली के प्रेम मन्दिर में खास मकर संक्रन्ति के दिन हजारों जोड़े विधिवत पूजा अर्चना कर रेवड़ी चढ़ाकर मन्नत मांगते हैं किले की प्राचीर की नींव पर बना नटबली का मन्दिर जो पूरे साल सूना पड़ा रहता है। लेकिन कल अस्था के केन्द्र में बदल जायेगा।

ऐसी मान्यता है कि नटबली मन्दिर में आने वाले हर प्रेमी जोडे़ की हर मन्नत पूरी होती है।



चर्चित खबरें