website statistics
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से ललितपुर एक व्यापारी के यहां लाय"/>

व्यापार कर विभाग ने लाखों रुपये का गुटखा पकड़ा

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से ललितपुर एक व्यापारी के यहां लाये जा रहे करीब 75 लाख रुपये के पान मसाला व तम्बाकू गुटखा से भरा ट्रक संख्या यूपी 78 बी.टी. 6937 को व्यापार कर के असिस्टेंट स्टेट टेक्स कमिश्नर भरत लाल पटेल ने सचल दल के साथ पकड़ा है। मसौरा बैरीयर के निकट सचल दल ने ट्रक को रोककर उसकी तलाशी ली तो मामले की जानकारी हुई। इतनी भारी मात्रा में गुटखा का परिचालन कर लाये जाने के पीछे का कारण अधिकारी जानने में जुटे रहे। तो वहीं कागजों को खंगालने के नाम पर समय व्यतीत करने का खेल भी खूब चलता रहा।

गौरतलब है कि ललितपुर में एक गुटखा ब्राण्ड के बड़े व्यापारी जो कि नझाई बाजार से गुटखा के व्यापार को संचालित कर रहा है। विगत कई वर्षों से जमाखोरी को लेकर चर्चाओं में बना रहा। मिश्रित गुटखा बंदी के समय भारी मात्रा में स्टॉक कर लोगों को ब्लैक में गुटखा बेचने के मामले भी कई बार सामने आये, लेकिन ऊँची पकड़ के चलते प्रशासनिक कार्यवाहियों से बच निकले उक्त व्यापारी ने गुटखा के व्यापार को और आगे बढ़ा दिया।

आलम यह है कि अब ललितपुर की अधिकांश युवा पीढ़ी गुटखा की लत का शिकार है। हालांकि प्रशासन की ओर से चलाये जाने वाले तम्बाकू नियंत्रण व नशा विरोधी अभियानों के कागजों तक ही सीमित रहने से इस प्रकार के नशे के काले कारोबार खुलेआम संचालित हो रहे हैं। सोमवार को मसौरा बैरीयर के निकट भारी मात्रा में पकड़ा गया, जिसमें करीब 38 हजार पैकेट जरदा और इतने ही पैकेट राजश्री भरे थे जिनकी कीमत 783446 रुपए कीमत की जरदा पैकेट और 5394848 रूपया के राजश्री पान मसाला भरा हुआ है। जिसके कागजात ट्रक संचालक के पास नहीं पाये गये और जो प्रपत्र पाये गये उन्हें जांचने-परखने के नाम पर समय व्यतीत कर छोडऩे की गुपचुप तैयारियां भी चलती हुईं प्रतीत हुईं। जांच अधिकारियों ने बताया कि जांच के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो पायेगी कि उक्त गुटखा करापवंचन का है या फिर अवैध ?



चर्चित खबरें