website statistics
आयुक्त सागर संभाग, कलेक्टर पन्ना के निर्देशानुसार श्रीमति सुशी"/>

मुनगे से 300 से अधिक बीमरियेां का इलाज संभव है

आयुक्त सागर संभाग, कलेक्टर पन्ना के निर्देशानुसार श्रीमति सुशीला कुशराम परस्ते जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस पन्ना, श्रीमति रेखा बाला सक्सेना परियोजना अधिकारी पन्ना ग्रामीण के मार्ग दर्शन में कुपोषण से मुक्ति हेतु प्रत्येक माध्यम एवं अतिकम वजन के बच्चों के परिवार वालों के आगन में मुनगा से सुपोषण अभियान 1 जनवरी से 31 जनवरी तक आयोजित किया जा रहा है। इस के अंतर्गत प्रत्येक सुपरवाईजर द्वारा आ0बा0 स्तर पर अभिभावकों को मुनगा एक अनमोल उपहार का प्रशिक्षण दिया जा रहा है इसी तारतम्य में परिक्षेत्र डडवरिया में विकास खण्ड समन्वयक पुनीत तिवारी द्वारा अभिभावकों मुनगा के गुणों से परिचत करते हुऐ। बताया गया कि मुनगा वृक्ष का प्रत्येक हिस्सा जड़ से लेकर पत्तियों तक औषधीय गुणों से  भरपूर है।

मुनगे की पत्तियों शिशुओं के लिए टाॅनिक के समान है श्री तिवारी ने बताया की बच्चों में कुपोषण एवं हड्डी संबंधी बीमरियों को दूर करने के लिए मुनगा एक रामबाण औषधि है मुनगे में विटमिन ए,बी,सी कैशियम,आयरन,पोटेशियम, व अमीनों अम्ल प्रचूर मात्रा में पाये जाने के कारण यह नेत्र ज्योति बढाने में सहायक तथा हदृय रोगियों के लिए लाभकारी है। मुनगे की महत्वता को स्पष्ट करते हुऐ। बताया की मुनगे में सतरें की तुलना में 7 गुना अधिक विटमिन सी दूध 17 गुना अधिक कैल्शियम पालक की तुलना में 25 गुना अधिक आयरन है। केले की तुलना में 15 गुना अधिक पोटेशियम होने के कारण यह अत्यधिक गुण करी है मुनगा का सेवा करने से धा़त्री महिलाओं को उचित पोषण मिलता है। मुनगा एक अच्छा रक्त शेधक एवं रोगप्रतिरोध क्षमता बढाने वाला होता है। मुनगा योवन को बढाने वाला है, पुरूषों में प्रजनन क्षमता बढाने वाला है।

महिलाओं मे रक्ताल्पता, प्रसाव की समस्याओं का समाधान करता है इसके अलावा मुनगा के सेवन से 300 से भी अधिक प्रकार की बीमरियों से छुटकारा पाया जा सकता है।  मुगना शरीर को सम्पूर्ण पोषण प्रदान करने में सक्षम है, इसलिए प्रशिक्षण में इस बात पर विशेष बल दिया गया है कि महिलाऐं दैनिक भोजन में विभिन्न प्रकार से मुनगा को शामिल करें तभी मुनगा एक अनमोल उपहार कार्यक्रम सही मायनों में साकार हो सकेंगा और तभी हम एक स्वस्थ समाज का निर्माण कर सकेंगे।



चर्चित खबरें