website statistics
लाख कोशिशों के बाद भी कस्बा क्षेत्र में धधक रही अवैध "/>

धधक रही अवैध शराब की भट्यिां, पुलिस मौन

लाख कोशिशों के बाद भी कस्बा क्षेत्र में धधक रही अवैध शराब की भटियों पर लगाम नही लग पा रही हैं। कस्बा क्षेत्र में बनाई जा रही अवैध शराब में मानक न होने के चलते कई लोग काल के गाल में समां चुके है तथा युवा पीढी इसकी चपेट में आकर अपना भविष्य वर्वाद कर रहे है। पुलिस सबकुछ जानकर भी अंजान बनी हुई। एक दो बार वाहवाही लूटने के लिये छोटे-मोटे स्थान पर छापा मार कार्यवाही कर अपना पल्ला झाड लेती है और अवैध शराब का धन्धा करने वाले माफियां आराम से यह गोरखधन्धा कर रहे हैं। जिन पर पुलिस नकेल करने में नकाम साबित हो रही है।

गौरतलब है कि पुलिस आये दिन अवैध शराब पकड रही है फिर भी कस्बा क्षेत्र में काफी समय से अवैध शराब बनाने का धन्धा तेजी से फल फूल रहा है। अवैध शराब का धन्धा करने वाले कारोबारी इससे मालामाल हो रहे है। कस्बा क्षेत्र से मप्र की सीमा लगी होने के कारण यह धन्धा बडी की तेजी से फल फूल रहा है। यह शराब माफियां मप्र से शराब लाकर कस्बा क्षेत्र में मिलावट कर खपा रहे हैं। विशेष सूत्रों की माने तो इस गोरखधन्धा में कई सफेद पोश भी जुडै हुये है। जिसके कारण पुलिस इन पर कार्यवाही करने से कतराती है। पुलिस दिखावे के लिये छोटे-छोटे लोगों व कार्यवाही कर 10-15लीटर शराब पकड कर इतिश्री कर लेती है। जबकि इस धन्धे से जुडै बडे-बडे माफिया कुन्तलों लीटर शराब प्रतिदिन बनाकर आज की नई पीढी में जहर घोलने का काम कर रहे है। अभी कुछ महीने पहले जहरीले शराब पीने से हुई मौतों के चलते पुलिस ने इन पर कडे तेवर दिखाते हुये कार्यवाही की थी। तब पुलिस ने कई कुन्तल लीटर शराब बरामद की थी और उसे नष्ट करवाया था।

शराब बनाने के उपकरण अवैध मप्र की शराब, खाली बोतले रैपर आदि बरामद किये थे। जिसने उजागर कर दिया था कि भारी मात्रा में यहां अवैध शराब बनाने का धन्धा हो रहा है और इसमें कई सफेद पोशों के नाम उजागर भी हुये थे। जबकि एक को तो रंगे हाथों भी पकडा था जिसकी गिरफ्तारी अभी तक नही हुई। अभियान के ठंडा पडते ही पुलिस ने इससे अपने हाथ खींच लिये और इन शराब माफियाओं ने फिर से अपनी जडे जमाना शुरु कर दिया है। यह शराब माफिया दिनदहाडे अवैध शराब बनाने में जुटे हुये है। सैकडों लीटर अवैध शराब अभी सम्पन्न हुये चुनाव में प्रत्येक गांवों में बांटी गई। फिर भी पुलिस ने इस ओर कोई ध्यान नही दिया। जिस कारण जहरीली शराब बनाने वाले माफियाओं के हौसले बुलन्द बने हुये है।



चर्चित खबरें