< कुपोषण मुक्त गांव बनाये जाने की गतिविधियां तेज Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में राज्य पोषण मिशन अन"/>

कुपोषण मुक्त गांव बनाये जाने की गतिविधियां तेज

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में राज्य पोषण मिशन अन्तर्गत जिला पोषण समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक के आरम्भ में प्रभारी डीपीओ/डीडीओ देवेन्द्र प्रताप द्वारा जिलाधिकारी की अनुमति से बैठक एजेण्डा बिन्दु अनुसार समीक्षा करायी गयी।

 बैठक में कुपोषण मुक्त गांव की प्रगति, मेगाकाल सेन्टर द्वारा ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस सत्रों की डैटवोर्ड पर उपलब्ध कराये गये डाटा, 0-5 साल के बच्चों, गर्भवती-धात्री महिलाओं एवं 11-18 वर्ष की किशोरियों को बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदान की जाने वाली स्वास्थ्य एवं पोषण से संबंधित सेवाओं, ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में गठित ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण समिति, गंभीर अति कुपोषित बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्रों पर सन्दर्भन एवं उपचार व शासन द्वारा जारी निर्देशानुसार 16 से 30 दिसम्बर 2017 तक बाल विकास परियोजना कार्यालयों एवं आगनबाडी केन्द्रो पर पोषण पखवारा के दौरान किये गये गतिविधियों, लाल श्रेणी के बच्चों का चिहांकन एवं उनके वजन वेबसाइट पर अपलोड किये जाने के संबंध में जिलाधिकारी द्वारा विस्तृत रूप से समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिये गये।

जिलाधिकारी द्वारा जनपद स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि कुपोषण मुक्त गांव बनाये जाने के संबंध में अपने गोद लिए गये गांव का नियमित रूप से भ्रमण करे। कहा कि मुख्य सचिव द्वारा जारी निर्देशानुसार समुदाय एवं ग्रामीण लाभार्थी को बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पंचायती राज विभाग, शिक्षा विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, पूर्ति विभाग द्वारा दी जा रही सेवाओं का पर्यवेक्षण कर शासन द्वारा जारी प्रारूप -2 पर प्रतिमाह अपनी रिपोर्ट जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय को उपलब्ध कराये। कुपोषण मुक्त गांव बनाये जाने हेतु 02 अनिवार्य कोर एवं 12 आवश्यक मानक पर आप द्वारा उपलब्ध करायी सूचना राज्य पोषण मिशन की बेवसाइट पर अपलोड की जायेगी। संमन्वय विभाग द्वारा दी जा रही सेवाओं एवं गोद लिये गये जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा पर्यवेक्षण से प्राप्त रिपोर्ट की समीक्षा प्रत्येक माह जिला पोषण समिति की बैठक की जायेगी। जिन राजस्व गांव के समस्त लाल श्रेणी के बच्चों के पोषण स्तर में सुधार होकर पीली में आ गये हो एवं समस्त गर्भवती महिलाओं में 75 प्रतिशत से अधिक महिलाएं मानक के अनुरूप आयरन फोलिक एसिड की गोलियों का सेवन कर रही हो वही गांव कुपोषण मुक्त होगा। कुपोषण मुक्त गांव के लाल श्रेणी के बच्चों के परिवार को ग्रामीण क्षेत्र में संचालित मनरेगा आजीविका मिशन से जोडा जाये एवं इन परिवारों का अनिवार्य रूप से राशन कार्ड जारी कराया जाये।

बैठक में सीएमओ डा.प्रताप सिंह, प्रतिरक्षण अधिकारी डा.जे.एस.बख्शी के अलावा बैठक में मौजूद सीडीओ प्रवीण कुमार लक्षकार द्वारा विजन के अन्र्तगत कुपोषण मुक्त गांव बनाये जाने की जानकारी दी। 14 वें वित्त आयोग की निधि से पंचायत राज विभाग के समन्वय से आंगनबाडी केन्द्रो की मरम्मत/रंगाई-पुताई एवं पेयजल/शौचालय व्यवस्था से संबंधित विन्दु पर जिला विकास अधिकारी/जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी से संमन्वय कर कार्ययोजना तैयार कर समस्त आंगनबाडी पर आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराये।आंगनबाडी केन्द्र पर आधारभूत सुबिधाओ की हुई प्रगति पर अगामी बैठक में नियमित समीक्षा करायी जाये।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें