website statistics
जनपद के मऊरानीपुर में बाबा रामदास ब्रह्मचारी के विर"/>

24 दिसंबर से 1 जनवरी तक विविध कार्यक्रमः बाबा रामदास ब्रह्मचारी

जनपद के मऊरानीपुर में बाबा रामदास ब्रह्मचारी के विरक्ति के 50 वें पावन पर्व पर  श्री शांतिनिकेतन धनुषधारी मंदिर प्रांगण में 24 दिसंबर से 1 जनवरी तक विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 

बुंदेलखंड पीठाधीश्वर बाबा रामदास ब्रह्मचारी ने मीडिया को बताया कि 24 दिसंबर को भूतेश्वर भगवान का अभिषेक प्रातः 8 बजे से 10 बजे तक ,11 बजे से  श्रीमद्भागवत का मूल पाठ 3 बजे तक, ओर 3 बजे से भागवत कथा आयोजित की जाएगी की। 31 दिसंबर को अभिषेक ,पूजन व पूर्ण आहुति। 1 जनवरी को विशाल भंडारे के साथ नगर भोजन आयोजित किया जाएगा।  
 
उन्होंने बताया कि वह जब 14 वर्ष की अवस्था में थे तब उन्होंने विरक्ति ले ली थी। हमीरपुर जिले के कबरई ग्राम के सुखलाल दुवे  व माता सुमित्रा देवी के घर जन्मे बाबा रामदास ब्रह्मचारी ने विरक्त गुरु रामजी दास महाराज की दीक्षा प्राप्त कर चित्रकूट में काफी लंबे अरसे तक निवास किया। 1976 में मऊरानीपुर आगमन हुआ तथा 1978 में शांति निकेतन आश्रम की महन्ती हुई। उस समय  उक्त आश्रम  शहर के अंतिम छोर में बने एक निर्जन स्थान पर था। वर्तमान समय में धनुषधारी जी की प्रेरणा से आज स्थान पर 20 कमरे संतो व छात्रों के लिए , यज्ञशाला , पुस्तकालय, 25 गायो की सेवा होती है। 30  वर्षों से निरंतर तुलसी चेतना पत्रिका का भी प्रकाशन किया जा रहा है। एक बड़ी गौशाला कुरेचा नाका रोड पर स्थित है ।
 
जहां पर 200 से अधिक गोवंश रहता है। वर्ष में   अनेको कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें मेला जलविहार पर आयोजित मानस सम्मेलन भी सम्मिलित है।इसी माह के  उक्त कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। अंत मे  ब्रह्मचारी जी ने कहा कि यज्ञ के प्रसाद से कलषित विचारो का दमन होता है। कार्यक्रम में चित्रकूट वा क्षेत्रीय संत महंतों का आगमन होगा। इस मौके पर प्रोफेसर गदाधर त्रिपाठी, रमेश दीक्षित, शरद खरे, अमित पुरवार, राकेश राय, ब्रजेन्द्र त्रिपाठी, गोपाल बबेले, आदि मौजूद रहे।


चर्चित खबरें