website statistics
वैसे तो उत्तर प्रदेश पुलिस को काम न करने की संज्ञा मिली हुई है किं"/>

पुलिस बनी रक्षक

वैसे तो उत्तर प्रदेश पुलिस को काम न करने की संज्ञा मिली हुई है किंतु कभी कभी यही पुलिस जीवन रक्षक भी बन जाती है। मामला थाना कोतवाली झांसी का है जहाँ एक युवक को पी.आर.वी. की ततपरता के चलते  दूसरी जिंदगी मिल गई।

कोतवाली थाना अंतर्गत मोहल्ला पंचवटी में रहने वाला एक 26 वर्षीय युवक बच्चू अहिरवार जो कि फल का ठेला लगाता है, किन्तु सीजन आफ होने के कारण उसका व्यापार ठीक नही चल रहा । आर्थिक तंगी के चलते उस युवक ने जब आत्महत्या करने की ठानी और चल पड़ा पंचवटी के पास से निकली कानपुर रेल लाइन की तरफ,तब उसके परिजनों को इसकी भनक लगी, पड़ोसियों की मदद से डायल 100 को सूचना दी गई। किन्तु पहले ही से वहीं गश्त कर रही पी.आर.वी. 362 को परिजनों ने सारे मामले की सूचना दी।

रेलवे लाइन किनारे होने के कारण जब वहां गाड़ी न चल सकी तो 362 के कमांडर देवेंद्र सिंह तोमर, सब कमांडर राजेश वर्मा,एवम चालक राघवेंद्र सिंह ने पटरियों पर दौड़कर आत्महत्या करने जा रहे बच्चू अहिरवार पुत्र जालिम निवासी पंचवटी को ट्रेन गुजरने के ठीक 1 मिनिट पहले रेल पटरी से हटा दिया और ट्रेन निकल गई। अगर पी.आर.वी 362 की तत्परता न करती तो एक युवक आर्थिक तंगी के चलते अपने परिवार को बिलखता छोड़ जाता।



चर्चित खबरें