website statistics
भाजापा कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में पूर्व सांसद ने सूख"/>

पूर्व सांसद ने स्वयं फावडा उठा रखी गौशाला की नीव

भाजापा कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में पूर्व सांसद ने सूखे से जूझ रहे किसानों को जान देने के बजाये उससे लडने की अपील की है। उन्होने इसके लिये वह आज से आन्दोलन शुरू कर जन जागरण की पहल करेगे। अन्ना जानवरों से फसल को बचाने के लिये गोशालाओं की आधार शिला भी रखेगे। उन्होने जिले में किसानों से वसूली स्थगित करने की घोषणा करने पर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया है।

पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत ने भाजपा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि किसान सूखे के कारण जान दे रहे है उन्होने कहा कि वह किसानों से जान देने के बजाये उससे लडने की अपील करेगे। इसके लिये उन्होने आज से आन्दोलन की शुरूआत की है। पूर्व सांसद ने कहा कि जिले के किसानों से वसूली स्थगित करने की घोषणा के लिये वह मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते है। उन्होने कहा कि यह सूखा की पहली लडाई है जिसमें हमे जीत मिली है। किसानों के लिये मुआवजे की भी मांग की जायेगी साथ ही किसानों की आय को दोगुना करने के लिये बकरी, मुर्गी, भैंस पालन के साथ ही फलदार पेड लगाने हेतु प्रोत्साहन की मांग की जायेगी।

उन्होने विभागों के बजाये किसानों को फलदार पेड व तारवाडी देने की जरूरत पर बल दिया। इसके लिये उन्होने शीघ्र मुख्यमंत्री से मिलकर वार्ता करने की बात कही। उन्होने किसानों को खाडी के अरब राष्टों के लोगों का उदाहरण दिया। जिन्होने सूखे व कम पानी के वावजूद जानवरों को पालकर अपनी आजीविका अर्जित की। बुन्देलखण्ड के किसान भी खेती के साथ साथ इसे अपनाये।

गंगाचरण राजपूत ने कहा कि शासन स्तर पर अन्ना पशुओं से बचाव के लिये गोशालायें बनेगी। इसके बाद स्थानीय स्तर पर ग्राम अजनर की कृषि उपमण्डी स्थल पर  पहुंच कर मिनी गौशाला के लिये मंडी स्थ्ल में लगी कंटीली झांडियों व गन्दगी साफ करने के लिये पूर्व सांसद ने श्रमदान कर सफाई अभियान की शुरूआत की। इस मौके पर उपजिलाधिकारी राजेश कुमार यादव पुलिस क्षेत्रधिकारी रमेश सिंह खण्ड विकास अधिकारी महिमा विद्यार्थी, अजनर प्रधान प्रतिनिधि ब्रजेन्द्र द्विवेदी, कुलपहाड नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि अमित प्रताप सिंह एवं भाजपा के कार्यकर्ता, पदाधिकारी  हरी अनुरागी, जिलामंत्री सुरेन्द्र सक्सेना, मण्डल अध्यक्ष बेलाताल योगेश मिश्र सहित क्षेत्र के लगभग तीन दर्जन से अािक प्रधान उपस्थित रहे। उन्होने कहा कि एक मिनी गौशाला शुरू की जा रही है ताकि तत्कालिक रूप से किसानों को राहत मिल सके।

 



चर्चित खबरें