website statistics
शहर के प्रमुख गुटखा व्यवसायी भारत गुटखा के मालिक के आ"/>

भारत गुटखा में आयकर का छापा

शहर के प्रमुख गुटखा व्यवसायी भारत गुटखा के मालिक के आवास पर आज सवेरे आयकर विभाग की टीम ने छापा मारा। परिवार के सभी लोगों को घर में ही रोक दिया गया है। कागजात खंगाले जा रहे हैं और मीडिया को अन्दर जाने से रोकने के लिए घर के आसपास पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है।

सोमवार को तड़के तीन-चार गाड़ियों में आयकर विभाग की टीमें पहुंची, इन गाड़ियों में भारत सरकार लिखा हुआ है। गाड़ियों से उतर कर अधिकारी सीधे गुटखा व्यवसायी राकेश साहू के आवास में घुस गये और इसी दौरान वहाँ पुलिस भी आ गयी और आवास के आस-पास तैनात हो गई। आयकर टीम के आते ही किसी को भी अन्दर या बाहर आने-जाने पर रोक लगा दी गई है। सूत्रों का मानना है कि आयकर टीम में शामिल अधिकारी गुटखा व्यवसायी से पूछताछ करने के बाद आवश्यक कागजात खंगाल रहे हैं।

इधर गुटखा व्यवसायी के आवास में छापा पड़ने की खबर पा कर मौके पर पहुंची बुन्देलखण्ड न्यूज और बुन्देलखण्ड कनेक्ट की टीम को पुलिस ने अन्दर जाने से रोक दिया है। बताया जाता है कि मर्दननाका स्थित भारत गुटखा का कारखाना और आवास आसपास हैं, जिससे आयकर टीम ने फैक्ट्री पर भी छानबीन शुरू कर दी है।

नाम न छापने की शर्त पर भारत गुटखा फैक्ट्री में पूर्व में काम कर चुके एक कर्मचारी ने बुन्देलखण्ड न्यूज की टीम को काफी अहम जानकारी दी है कि इस फैक्ट्री में मजदूरों को बंधक बनाकर काम कराया जाता है। रात में गुटखा बनाया जाता है और उसकी पैकिंग की जाती है।

रात की शिफ्ट में काम करने वाले कर्मचारियों को फैैक्ट्री के अन्दर करके उन्हें बाहर से ताला लगाकर बन्द कर दिया जाता है। इस दौरान कोई भी कर्मचारी न तो बाहर आ सकता है और न ही कोई अन्दर जा सकता है। नकली सुपाडियों और केमिकल के मिश्रण से इस गुटखे को तैयार करते हुए कई कर्मचारियों को दमे की शिकायत हुई है। कुल मिलाकर कर्मचारियों का शोषण कर करोड़पति और फिर अरबपति बने इस व्यवसायी के ऊपर जब-जब भी छापा पड़ा, इसने सभी को मैनेज कर लिया।



चर्चित खबरें