शासन से गरीबों को सस्ते दामों पर मुहैया कराये जाने वाला खाद्यान"/>

कालाबाजारी करने जा रहा कोटेदार रंगेहाथों दबोचा महिला कोटेदार के पुत्र व व्यापारी पर एफआईआर दर्ज

शासन से गरीबों को सस्ते दामों पर मुहैया कराये जाने वाला खाद्यान्न पात्रों तक न पहुंच कर कालाबाजारी के लिए ले जाया जा रहा था। इसकी सूचना ग्रामीणों ने पूर्ति विभाग को दी। सूचना मिलने पर पूर्ति अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर कालाबाजारी के लिए पिकअप में लादी गयीं खाद्यान्न से भरी बोरियों को जब्त कर कोटेदार पुत्र व खरीददार व्यापारी के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह के आदेश पर खाद्यान्न की कालाबाजारी रोकने के लिए पूर्ति अधिकारी रामजतन यादव के निर्देश पर सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत रविवार को ब्लाक जखौरा अंतर्गत ग्राम अड़वाहा की कोटेदार सिन्दू देवी की दुकान में औचक निरीक्षण किया गया। इस दौरान जांच में पाया गया कि शासन से गरीब परिवारों को वितरण होने के लिए आने वाला सस्ते दाम का खाद्यान्न पात्रों को वितरण नहीं किया जा रहा हैए जबकि मौके पर पूर्ति निरीक्षक अशोक कुमार व पूर्ति लिपिक हेमन्त कुमार ने दुकान के पास खड़ी पिकअप में 24 बोरियां खाद्यान्न से भरी हुईं बरामद की है।

पूर्ति अधिकारियों ने पिकअप को थाना जखौरा पुलिस को सुपुर्द करते हुये कोटेदार के पुत्र राहुल व कस्बा बांसी निवासी व्यापारी किशन पुत्र काशीराम के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3ध्7 के तहत एफआईआर दर्ज करायी है। इस दौरान पूर्ति अधिकारी द्वारा कोटेदारों को सख्त हिदायत दी गयी कि यदि खाद्यान्न की कालाबाजारी करते हुये पकड़े गये तो सख्त कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार ही गरीब पात्र परिवारों को खाद्यान्न का वितरण किया जाये।



चर्चित खबरें